राजौरी। श्री अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को इस बार मुगल रोड के रास्ते भी कश्मीर जाने की अनुमति होगी। हल्के वाहनों पर आने वाले यात्री अपनी इच्छा से इस मार्ग से आ-जा सकते हैं। इसके लिए प्रशासन द्वारा पूरी तैयारी की जा रहा है। इस मार्ग का इस्तेमाल करने वाले बाबा बर्फानी के भक्त प्राकृतिक वादियों की सुंदरता का भी पूरा आनंद उठा सकेंगे। इसके लिए पर्यटन विभाग जी-जान से जुटा हुआ है।

भारी बर्फबारी से छह माह बंद रहने के बाद पुंछ जिले को शोपियां से जोडऩे वाले मुगल रोड पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो चुकी है। मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद भी इस मार्ग को वैकल्पिक राजमार्ग बता चुके हैं। अब अगले माह से श्री अमरनाथ यात्रा शुरू होने जा रही है। इस बार जो यात्री हल्के यात्री वाहनों में आएंगे वे मुगल रोड से कश्मीर जा पाएंगे। इससे पहले इस मार्ग से अमरनाथ यात्रियों के जाने पर रोक थी।

सात घंटों में कश्मीर पहुंच जाएंगे यात्री

जम्मू से कश्मीर जाने के लिए जम्मू-श्रीनगर हाईवे का इस्तेमाल करने पर पूरे एक दिन का समय लग जाता है, लेकिन मुगल रोड से कश्मीर जाने वाले वाहन मात्र सात घंटों में जम्मू से कश्मीर पहुंच जाएंगे। इस मार्ग से यात्रियों का काफी समय बचेगा।

प्राकृतिक वादियों का नजारा भी ले पाएंगे यात्री

जम्मू से यात्री हसीन वादियों का नजारा लेते हुए कश्मीर पहुंचेंगे। राजौरी जिले में यात्रियों को देखने के लिए डेरा गली, मुगल सराय चिंगस, थन्ना मंडी आदि प्रमुख स्थल होंगे। जबकि पुंछ जिले में नूरी छंब, बफलयाज, छत्ता पानी, डूगरा, पशाना व पीर की गली प्रमुख स्थल होंगे।

सुरक्षा के होंगे पुख्ता प्रबंध

यात्रियों की सुरक्षा के लिए राज्य पुलिस के जवानों के साथ-साथ सीआरपीएफ व सेना के जवानों की गश्त पूरे मार्ग पर हर समय रहेगी। रास्ते में कई चेक पोस्ट बनाने के साथ सहायता केंद्र भी स्थापित किए जाएंगे।

मदन लाल, डीएसपी ट्रैफिक ने कहा कि मुगल रोड से अमरनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं को जाम से दो-चार न होना पड़े, इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

मुशीर मिर्जा, सीईओ, राजौरी विकास प्राधिकरण ने बताया कि अमरनाथ यात्रियों को पर्यटन स्थलों से भी रूबरू कराया जाएगा। मुगल रोड पर जगह-जगह पर छोटे रेस्तरां तैयार किए गए हैं। यात्रियों को हर सुविधा मुहैया करवाई जाएगी।

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप