अदभुद है शिव के नामों का प्रभाव 

सोमवार को शिव जी की पूजा करते समय उनके निम्‍नलिखित नामों का स्‍मरण करने सांसारिक कष्‍टों और मानसिक तनावों से मुक्‍ति मिल जाती है ऐसा विद्वानों का मानना है। ये नाम इस प्रकार हैं। ऊं अघोराय नम:, ऊं शर्वाय नम:, ऊं विरूपाक्षाय नम:, ऊं विश्वरूपिणे नम:, ऊं त्र्यम्बकाय नम:, ऊं कपर्दिने नम:, ऊं भैरवाय नम:, ऊं शूलपाणये नम:, ऊं ईशानाय नम:, ऊं महेश्वराय नम:

इन मंत्रों का भी करें जाप

सोमवार को शिवलिंग की पूजा अर्चना के बाद कुश के आसन पर बैठ कर रुद्राक्ष माला से इन शिव के कुछ प्रभावशाली मंत्रों का जप करना भी विलक्षण सिद्धि व मनचाहे लाभ देने वाला होता है। इन मंत्रों का जाप आप अपनी इच्‍छा अनुसार 11 , 21 , 101 ,1001 बार कर सकते है। इन मंत्रों में ऊं नमः शिवाय तो सर्वश्रेष्‍ठ है ही इसके साथ ही ऊं नमः शिवाय शुभं शुभं कुरू कुरू शिवाय नमः ऊं’ के मंत्र का जाप भी बड़ी से बड़ी समस्या और विघ्न को टालने में सहायक होता है। इसके साथ ही नमो नीलकण्ठाय, ऊं पार्वतीपतये नमः, ऊं पशुपतये नम: का जाप भी कर सकते हैं ये अत्‍यंत कल्‍याणकारी हो सकते हैं। यह नाम भगवान शिव को प्रसन्न करने के अत्यंत सरल और अचूक मंत्र हैं। इन का रुद्राक्ष की माला से जप करना चाहिए। जप पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख करके करना चाहिए। 

शिव पूजा विधि

सोमवार को शिव पूजन के लिए सुबह स्नान आदि नित्य कर्मों से निवृत्त होकर पवित्र हो जाएं। इसके बाद घर के मंदिर या किसी शिव मंदिर जाएं जहां भगवान शिव के साथ माता पार्वती और नंदी को गंगाजल या पवित्र जल अर्पित करें। जल अर्पित करने के बाद शिवलिंग पर चंदन, चावल, बिल्वपत्र, आंकड़े के फूल और धतूरा चढ़ाएं। पूजा संपन्न करने के लिए भगवान शिव को घी, शक्कर का भोग लगाएं और इसके बाद धूप, दीप से आरती करें।

 

Posted By: Molly Seth