क्‍यों रखें मंगल का व्रत 

ऐसा माना जाता है जिनकी कुंडली में मंगल ग्रह भारी हो या जीवन में कुछ भी शुभ ना हो रहा हो तो ऐसे लोगों को मंगलवार का व्रत रखना चाहिए। ये व्रत और पूजा हनुमान जी को प्रसन्‍न करने के लिए की जाती है। अन्‍य देवी देवताओं की तरह हनुमान जी के व्रत के भी कुछ विशेष विधि और विधान हैं, जिनका नियमानुसार पालन करना चाहिए ताकि सर्वोत्‍म फल की प्राप्‍ति हो सके। 

ऐसे करें पूजा

मंगलवार के व्रत के लिए सुबह स्‍नान करके ईशान कोण यानि उत्तर-पूर्व में किसी स्‍वच्‍छ स्थान पर हनुमान जी की मूर्ति स्थापित करें। इस मूर्ति के आगे घी का दीपक जलाएं, चमेली के तेल की छीटे दें और लाल या पीले रंग के फूलों की माला चढ़ाएं। इसके बाद हनुमान चालीसा का पाठ करके सभी को प्रसाद बांटे और पूरे दिन में सिर्फ एक बार भोजन करें। रात में भी एक बार फिर से हनुमान जी की पूजा करें या फिर दीपक जलाकर प्रणाम करें। इस दिन उन्हें सिंदूरी रंग के कपड़े चढ़ाने चाहिए और दान दें।

ध्‍यान रखने वाली बातें

इस व्रत में गेहूं और गुड़ का ही भोजन करना चाहिये।

एक ही बार भोजन करें और नमक नहीं खायें।

लाल पुष्प और वस्‍त्र चढ़ायें और लाल ही वस्त्र धारण करें।

  

Posted By: Molly Seth