Move to Jagran APP

Som Pradosh Vrat 2023: पाना चाहते हैं मानसिक तनाव से निजात, तो सोमवार के दिन जरूर करें ये खास उपाय

Som Pradosh Vrat 2023 ज्योतिषयों की मानें तो चन्द्रमा मन के कारक हैं। चन्द्रमा के कमजोर रहने से मन अशांत रहता है। आसान शब्दों में कहें तो चंद्रमा के कमजोर रहने से मानसिक तनाव की समस्या होती है। इसके अलावा किसी भी काम में व्यक्ति का मन नहीं लगता है।

By Pravin KumarEdited By: Pravin KumarPublished: Sun, 02 Apr 2023 02:46 PM (IST)Updated: Sun, 02 Apr 2023 02:46 PM (IST)
Som Pradosh Vrat 2023: पाना चाहते हैं मानसिक तनाव से निजात, तो सोमवार के दिन जरूर करें ये खास उपाय

नई दिल्ली, अध्यात्म डेस्क | Som Pradosh Vrat 2023: कल सोम प्रदोष व्रत है। यह दिन देवों के देव महादेव को समर्पित होता है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा-उपासना की जाती है। साथ ही चंद्र देव की भी पूजा करने का विधान है। शिव परिवार संग चंद्र देव की पूजा करने से चंद्र दोष दूर होता है। ज्योतिषयों की मानें तो चन्द्रमा मन के कारक हैं। चन्द्रमा के कमजोर रहने से मन अशांत रहता है। आसान शब्दों में कहें तो चंद्रमा के कमजोर रहने से मानसिक तनाव की समस्या होती है। इसके अलावा, किसी भी काम में व्यक्ति का मन नहीं लगता है। अगर आप भी मानसिक तनाव से परेशान हैं और इससे निजात पाना चाहते हैं, तो सोमवार के दिन ये उपाय जरूर करें। आइए जानते हैं-

-अगर आप मानसिक तनाव से निजात पाना चाहते हैं, तो सोमवार के दिन शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाएं। शिवलिंग पर दूध का अर्घ्य देने से शिवजी प्रसन्न होते हैं। उनकी कृपा से समस्त परेशानियां दूर होती हैं। साथ ही चंद्रमा भी मजबूत होता है।

-सोमवार के दिन सफेद चीजों का दान करने से भी देवों के देव महादेव प्रसन्न होते हैं। वहीं, चंद्र को मजबूत करने के लिए जल में सफेद फूल डालकर शाम में चंद्र देव को अर्घ्य दें। इस उपाय को करने से भी मानसिक तनाव दूर होता है।

-अगर आप चंद्र दोष से पीड़ित हैं और निजात पाना चाहते हैं, तो सोमवार के दिन चांदी या पीतल के बर्तन में दूध, चावल और गंगाजल मिलाकर चंद्र देव को अर्घ्य दें। इस उपाय को करने से भी मानसिक पीड़ा से छुटकारा मिलता है।

-अगर चंद्र दोष की वजह से मन अशांत रहता है, तो चांदी की अंगूठी में मोती रत्न जड़ाकर सोमवार को धारण करें। इस उपाय को करने से भी चंद्र दोष से निजात मिलता है।

चंद्रमा को मजबूत करने के लिए निम्न मंत्र का जाप करें

ॐ इमं देवा असपत्न सुवध्वं महते क्षत्राय महते

ज्यैष्ठयाय महते जानराज्यायेनद्रस्येन्द्रियाय।

इमममुष्य पुत्रममुष्यै पुत्रमस्यै विश

एष वोमी राजा सोमोस्मांक ब्राह्मणाना राजा।।

डिसक्लेमर-'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी। '


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.