जून के इस सप्ताह में कुछ महत्वपूर्ण दिन  हैं, जिनका लोगों को बड़ी बेसब्री से इंतजार रहता है। 12 जून से 18 जून के बीच गंगा दशहरा, निर्जला एकादशी, गायत्री जयंती जैसे महत्वपूर्ण व्रत एवं त्योहार आ रहे हैं। आइए जानते हैं इस सप्ताह के व्रत एवं त्योहारों के बारे में—

11 जून: बड़ा मंगलवार। महेश नवमी

12 जून : गंगा दशमी। गंगा दशहरा

13 जून: निर्जला एकादशी व्रत। गायत्री जयंती।

14 जून: प्रदोष व्रत।

17 जून: संत कबीर दास जयंती।

18 जून: गुरु हरगोविंद सिंह प्रकाश पर्व

निर्झरिणी

कामनाएं समुद्र की भांति अतृप्त हैं। पूर्ति का प्रयास करने पर उनका कोलाहल और बढ़ता है। -स्वामी विवेकानंद

यथार्थ गीता

कर्म में प्रवृत्त होना है स्वधर्म

श्रेयान्स्वधर्मो विगुण: परधर्मात्स्वनुष्ठितात्। स्वधर्मे निधनं श्रेय: परधर्मो भयावह:।

एक साधक 10 वर्ष से साधना में लगा हुआ है और दूसरा आज साधना में प्रवेश ले रहा है। दोनों की क्षमता एक जैसी नहीं होगी। प्रारंभिक साधक यदि उसकी नकल करता है, तो नष्ट हो जाएगा। इसी पर श्रीकृष्ण कहते हैं कि अच्छी प्रकार आचरण किए हुए दूसरे के धर्म से गुणरहित भी अपना धर्म अधिक उत्तम है। स्वभाव से उत्पन्न कर्म में प्रवृत्त होने की क्षमता स्वधर्म है। अपनी क्षमता के अनुसार कर्म में प्रवृत्त होने से साधक एक न एक दिन पार पा जाता है। अत: स्वधर्माचरण में मरना भी परम कल्याणकारी है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस