गैर-फिल्मी पृष्ठभूमि से आने के बावजूद दीपिका पादुकोण ने फिल्म इंडस्ट्री में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराई है। अपनी हर भूमिका में वह लडकियों की परंपरागत छवि को तोडती नजर आती हैं। बिना किसी गॉड फादर के पिछले आठ वर्षों में उन्होंने इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाई है।

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में दीपिका पादुकोण को आए लगभग आठ साल हो चुके हैं। पांच फुट नौ इंच लंबी स्पोर्टी पर्सनैलिटी वाली दीपिका इंडस्ट्री में लगातार लंबे डग भर रही हैं। हाल में ही रिलीज्ा फिल्म 'पीकू के ज्ारिये उन्होंने ख्ाुद को दमदार अभिनेत्री साबित कर दिया है। समीक्षकों और दर्शकों का बेशुमार प्यार इस फिल्म को मिला है। पीकू जैसी मूडी, लेकिन ज्िाम्मेदार कामकाजी लडकी की भूमिका निभा कर उन्होंने यह संदेश देने की कोशिश की है कि माता-पिता का ख्ायाल रखने में अब लडकियां भी पीछे नहीं हैं। लडकी के लिए ससुराल जाने की पारंपरिक अनिवार्यता को भी पीकू ख्ाारिज्ा करती नज्ार आती है। व्यस्त करियर के बावजूद पीकू पिता के लिए ब्रेक लेने से पीछे नहीं हटती। निजी ज्िांदगी में भी दीपिका ऐसी ही हैं। 'पीकू के बाद इसी साल उनकी 'बाजीराव मस्तानी आएगी। यह हाइ स्केल का ऐतिहासिक रोमैंस ड्रामा है। उसका निर्देशन संजय लीला भंसाली कर रहे हैं।

नित नई उपलब्धियां

ट्रेड पंडितों के मुताबिक, 'दीपिका पादुकोण नित नई उपलब्धियां हासिल कर रही हैं। उन्होंने उस मिथक को ध्वस्त किया है कि मॉडल ऐक्टिंग नहीं कर सकती। 'ओम शांति ओम, 'चेन्नई एक्सप्रेस और 'हैप्पी न्यू ईयर में शाहरुख खान के साथ उनकी जोडी लोगों को खूब भाई। वह हर उम्र वर्ग के सितारों के साथ सफल जोडिय़ां बना लेती हैं। सैफ अली ख्ाान के साथ 'लव आजकल हो या 'कॉकटेल, रणबीर कपूर के संग 'ये जवानी है दीवानी से पहले 'बचना ऐ हसीनों में भी दर्शकों को वह भाई थीं। मौजूदा समय में उनकी हिट जोडी रणवीर सिंह के संग है। उनके संग वे 'गोलियों की रासलीला -राम लीला जैसी हिट फिल्म दे चुकी हैं।

नृत्य-संगीत का योगदान

कोरियोग्राफर सरोज खान बताती हैं, 'उन अभिनेत्रियों ने लंबी पारियां खेलीं, जिनकी झोली में कर्णप्रिय गीत और अच्छे डांस नंबर रहे हैं। दीपिका के संग भी ऐसा ही है। संजय लीला भंसाली की वे पसंदीदा अभिनेत्री हैं। 'गोलियों की रासलीला- राम लीला की सफलता में दीपिका के ज्ाबर्दस्त डांस का अहम योगदान था। संजय लीला भंसाली की गुड बुक में आना बडी बात है। ऐश्वर्या राय का करियर उन्होंने संवारा था। वे यश चोपडा के बाद ऐसे फिल्मकार हैं, जिनकी फिल्मों में अभिनेत्रियों की मज्ाबूत भूमिका के अलावा उन्हें बहुत ख्ाूबसूरती से पेश किया जाता है।

मजबूत व बोल्ड छवि

दीपिका के करीबी दोस्त और फिल्मकार होमी अदजानिया के मुताबिक, 'दीपिका ने मिसाल कायम की है कि साधारण इंसान भी असाधारण उपलब्धियां अर्जित कर सकता है। वह ग्ौर फिल्मी बैकग्राउंड से हैं, उनका कोई गॉड फादर नहीं है, इसके बावजूद वे लगातार हिट फिल्में दे रही हैं। उनकी फिल्में मज्ाबूत इच्छाशक्ति वाली युवतियों का प्रतिनिधित्व करती हैं। 'कॉकटेल की वेरोनिका, 'लव आजकल की मीरा, 'चेन्नई एक्सप्रेस की मीना, 'राम लीला की लीला और 'पीकू की पीकू....दीपिका के सभी किरदार आज की मॉडर्न लडकी का प्रतिनिधित्व करते हैं।

हौसले कम नहीं होते

दीपिका वास्तविक ज्िांदगी में भी बोल्ड हैं। उन्होंने काफी उतार-चढाव देखे हैं ज्िांदगी में। मुंबई जैसे बडे शहर में घर से मीलों दूर रह कर उन्होंने करियर संवारा है, मगर ख्ाुद को अकेलेपन में नहीं घिरने दिया। इससे साबित होता है कि छोटी-छोटी शिकस्त उनके हौसलों को कम नहीं करती। दीपिका की फैन फॉलोइंग लगातार बढ रही है। नई लडकियों के लिए वह एक आदर्श अभिनेत्री हैं।

अमित कर्ण

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस