बर्फ को तराशकर खूबसूरत शहर बनाया चीन के हार्बिन शहर में नए साल पर आयोजित हार्बिन आइस एंड स्नो फेस्टिवल में बर्फ को तराशकर खूबसूरत आकृतियां बनाई गईं। इन्हें देखने के लिए दुनिया भर से पर्यटक यहां पहुंचे। 1963 में हार्बिन शहर के स्थानीय लोगों ने पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए यह उत्सव शुरू किया था। दरअसल, जाडे के दिनों में यहां तापमान शून्य से 35 डिग्री नीचे तक पहुंच जाता है, जिसके कारण नदी तक जम जाती है। बाद में इसी बर्फ से इन आकृतियों को तैयार किया जाता है। यह फेस्टिवल एक महीने तक चलता है।

जब 2017 में उडान भरकर वापस 2016 में पहुंची फ्लाइट! आपने टाइम मशीन के बारे में सुना होगा। कई फिल्मों में भी टाइम ट्रैवल के बारे में दिखाया गया है। वैज्ञानिक एक समय में दूसरे समय में ले जाने वाली टाइम मशीन बनाने में लगे हुए हैं। अगर कोई आपको एक दिन पीछे जाने के लिए कहे तो आप भी एक बार चौंक जाएंगे। चीन के शंघाई से उत्तरी कैलिफोर्निया के सैन फ्रांसिस्को जाने वाली यूनाइटेड एयरलाइंस की फ्लाइट यूए 890 के यात्रियों के साथ कुछ अलग घटित हुआ। ये यात्री 2017 से यात्रा शुरू कर वापस 2016 में पहुंच गए। दरअसल, शंघाई से सैन फ्रांसिस्को जाने वाली आमतौर पर इस फ्लाइट का सफर 11 घंटे और 5 मिनट का होता है, जबकि समय के हिसाब से शंघाई शहर, सैन फ्रांसिस्को से 16 घंटे आगे है। जब इस फ्लाइट ने शंघाई से 1 जनवरी को उडान भरी तो 11 घंटे और 5 मिनट की यात्रा पूरी कर यह 31 दिसंबर 2016 को फ्रांसिस्को पहुंची।

पानी के अंदर 55 किलोमीटर तक खींच कर ले गई मछली समुद्र के पास बैठ कर मछली पकड रहे मछुआरे को शायद अंदाज भी नहीं होगा कि अचानक मछली ही उसे पकड लेगी और फिर घंटों उसे पानी में ही रहना पडेगा। पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के एक मछुआरे के साथ यह घटना हुई। अचानक मर्लिन नाम की मछली ने उसे पानी में खींचा और फिर शख्स को 6 घंटे तक अपनी जान बचाने के लिए मशक्कत करनी पडी। इस शख्स की उम्र 20 से 25 साल के बीच बताई जा रही है। दरअसल ऑस्ट्रेलिया के समुद्र में अकेले यह शख्स मछलियां पकड रहा था। तभी उसके कांटे में मर्लिन मछली फंस गई। इस मछली का वजन 400 किलोग्राम से भी ज्यादा होता है। इससे पहले कि शख्स मछली को खींच पाता, मछली ने ही इस शख्स को अपनी ओर खींच लिया और वह नाव से पानी में जा गिरा और फिर छह घंटे तक पानी में रहा। इसके बाद मछली उसे ऐसी जगह ले गई जहां शार्क होती हैं। अचानक एक मछुआरे की नजर खाली नाव पर पडी और उसने खतरे को भांप कर अधिकारियों को इसकी सूचना दी। ऐक्समाउथ नाम के स्वयंसेवी मरीन रेस्क्यू ग्रुप के कमांडर रस्टी ऐलिस के अनुसार, यह शख्स बेहद भाग्यशाली था कि ऐसे इलाके से बच निकला। शख्स का इलाज किया गया।

105 की उम्र में साइक्लिंग का रिकॉर्ड हौसले और जज्बे की कोई उम्र नहीं होती। इंसान चाहे तो खुद को किसी भी उम्र में साबित कर सकता है। 105 साल की उम्र में लगातार एक घंटे तक साइकिल चलाकर जर्मनी के रॉबर्ट मारचंद ने यह साबित कर दिया। उन्होंने कुल 22.547 किलोमीटर तक साइकिल चलाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। पेरिस के सेंट क्वेंटिन एन वेलिंस के वेलेड्रोम में रॉबर्ट साइक्लिंग के लिए अपना पैशन दिखाने उतरे। एक घंटे तक 22.547 किलोमीटर साइकिल चलाकर सबसे अधिक उम्र में साइकिल चलाने का विश्व रिकॉर्ड बनाया। दुनिया में वह पहले ऐसे शख्स हैं, जिन्होंने इस उम्र में साइक्लिंग कर यह रिकॉर्ड अपने नाम किया। 26 नवंबर, 1911 को जर्मनी में पैदा हुए रॉबर्ट मारचंद की पत्नी 1943 में लापता हो गईं। उनकी कोई संतान नहीं थी। पत्नी के बाद वह अकेले पड गए लेकिन उन्होंने निराशा में डूबने के बजाय साइकिल से प्यार करना शुरू कर दिया। 1992 में 70 साल की उम्र में उन्होंने पहली बार पेरिस से मॉस्को के बीच रेस में पिछले रिकॉर्ड को तोडा। इसके बाद साइक्लिंग ही उनकी जिंदगी बन गई।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप