आईटी सेक्टर में क्लाउड कंप्यूटिंग एक उभरता हुआ फील्ड है, जिसमें आने वाले दिनों में लाखों नौकरियां आने की उम्मीदें हैं। इसे देखते हुए इस क्षेत्र में युवाओं का भविष्य उज्ज्वल हो सकता है। क्या है यह और कैसे बनाएं इसमें करियर, जानें सखी से। क्या है यह क्लाउड कंप्यूटिंग कोई प्रोडक्ट नहीं, बल्कि कंप्यूटिंग डिलिवरी सर्विस है, जिसमें रिसोर्सेज, सॉफ्टवेयर और सूचनाएं शेयर की जाती हैं। इसमें कस्टमर्स अपनी जरूरत के अनुसार सर्विस देने वाली क्लाइंट कंप्यूटिंग इंफ्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्लाउड कंप्यूटिंग का कॉन्सेप्ट इंटरनेट पर आधारित है। इसका सबसे बडा फायदा यह है कि इससे लागत में काफी कमी आती है। आप किसी सर्वर से अपने चुनिंदा प्रोग्राम्स को एक्सेस कर सकते हैं, जिससे मेंटेनेंस का खर्च आपको उठाना नहीं पडता। इसके लिए महीने में आपसे चार्ज लिया जाता है। गूगल, आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट जैसी साइट्स क्लाउड कंप्यूटिंग के सर्विस प्रोवाइडर्स हैं। कैसे मिलेगी एंट्री इस फील्ड में करियर बनाने के लिए कंप्यूटर साइंस या आईटी की डिग्री होना जरूरी है। वैसे आप चाहें तो इसके लिए सर्टिफिकेशन कोर्स भी कर सकते हैं। क्लाउड कंप्यूटिंग से जुडे सर्टिफिकेशन कोर्स आइबीएम, एनआइआइटी और एप्टेक आदि से भी किए जा सकते हैं। नौकरी के अवसर इसमें कंप्यूटिंग सर्विस इंटरनेट के माध्यम से थर्ड-पार्टी द्वारा उपलब्ध कराई जाती है। उन्हें अलग से सर्वर रखने की जरूरत नहीं होती। एजुकेशन, हेल्थ केयर, बैंकिंग, मैन्युफेक्चरिंग जैसे सेक्टर की कंपनियों के अलावा सरकारी क्षेत्र में भी इसका इस्तेमाल तेजी से बढा है। टेक्निकल स्किल्स डिमांड में डाटा एनालिटिक यूजर्स इंटरफेस, एक्सपीरियंस मल्टी आर्किटेक्चर एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग वर्चुअलाइजेशन रिसोर्सेज मैनेजमेंट और मॉनिटरिंग पैरलल प्रोग्रामिंग और डिवाइस मोबिलिटी। यहां से करें कोर्स एनआईआईटी, बेंगलुरु आईआईएचटी, चेन्नई विजुअल पाथ, हैदराबाद वीजीआईटी, चेन्नई बिजनेस एक्सीलेंस इंस्टीट्यूट प्राइवेट लिमिटेड, नई दिल्ली।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप