डबिंग आर्टिस्ट बनने के लिए किसी खास तरह का कोर्स करने की जरूरत नहीं होती है। आवाज और भाषा पर अच्छी पकड हो तो आप इस क्षेत्र में करियर बना सकते हैं। जानिए, कैसे बनें एक सफल आर्टिस्ट।

टीवी और रेडियो के साथ ही कार्टून कैरेक्टर्स हों, कोई फिल्म हो या कोई विज्ञापन, इन सभी पर सुनाई देने वाली आवाज और डायलॉग हर किसी का ध्यान खींचने का काम करता है, एक डबिंग आर्टिस्ट। डबिंगसे मतलब है, चरित्रों को आवाज देना। इसी तरह अंग्रेजी या अन्य भाषाओं की फिल्मों का हिंदी रूपांतरण करते समय भी डबिंगआर्टिस्ट की जरूरत पडती है। आवाज में स्पष्टता के अलावा शुद्ध उच्चारण की क्षमता और पात्रों के अनुसार आवाज में उतार-चढाव लाने की करामात ही आपको एक बेहतरीन डबिंगआर्टिस्ट के रूप में स्थापित कर सकती है। जानें कैसे।

जानें यह भी डबिंग आर्टिस्ट बनने के लिए किसी खास योग्यता की जरूरत नहीं होती। भाषा में अच्छी पकड और आवाज में दम की बदौलत ही आप इस फील्ड में एंट्री पा सकते हैं। लेकिन कुछ वर्षों से बतौर डबिंग आर्टिस्ट करियर बनाने के लिए कोर्स भी शुरू हो चुके हैं। इन कोर्सेस में दसवीं के बाद भी एडमिशन लिया सकता है। इसमें तीन माह से छह माह के डिप्लोमा कोर्स करके भी इस क्षेत्र में उतरा जा सकता है। डबिंग आर्टिस्ट के लिए अवसर ही अवसर मौजूद हैं। प्रोडक्शन हाउस, आकाशवाणी, विभिन्न टीवी चैनल्स, एफएम, रेडियो, विज्ञापनों, डॉक्युमेंट्री फिल्में, फिल्म, एनिमेशन वल्र्ड, ऑनलाइन एजुकेशन, मोबाइल में कॉलरट्यून की डबिंग में भी डब आर्टिस्ट की खूब डिमांड है। इसमें कंटेंटबेस्ड एवं फ्रीलांसिंगपर आधारित कार्य भी किया जाता है।

ऐसे होती है डबिंग डबिंगमें किसी विजुअलको उसी के अनुरूप आवाज देने का काम किया जाता है। उस विडियो में कैरेक्टरक्या कहना चाहता है, उसकी भावभंगिमाक्या दर्शाती है, इन सबकी मदद से उसे आवाज दी जाती है। फिल्म या डॉक्युमेंट्रीकी डबिंगकरते समय आवाज के जरूरी हिस्सों को ही रखा जाता है। प्रोग्राम विजुअलपहले से ही शूट कर लिए जाते हैं और बाद में उन्हें वॉयससपोर्ट दिया जाता है। ज्य़ादातरऐक्टर अपने डायलॉगको अपनी आवाज में डब करना पसंद करते हैं लेकिन जब वे समयाभाव, दिशा-निर्देश, भाषा की समस्याओं के चलते असमर्थ हो जाते हैं, तब उन्हें एक अनुभवी डबिंगआर्टिस्ट की जरूरत होती है।

प्रमुख संस्थान इन प्रमुख संस्थानों में सर्टिफिकेट और डिप्लेामा कोर्स इन वॉयस ओवर एंड डबिंग जैसे कोर्स भी कराए जा रहे हैं। जेवियर इंस्टीट्यूटऑफ कम्युनिकेशन, मुंबई लाइववायर्स(करियर इंस्टीट्यूटइन ब्रॉडकास्टिंगएंड फिल्म), मुंबई ईएमडीआईइंस्टीट्यूट ऑफ मीडिया एंड कम्युनिकेशन,मुंबई एशियन एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन, नोएडा आइसोम्सबीएजीफिल्म्स, नोएडा द वॉयस स्कूल, मुंबई एकेडमी ऑफ रेडियो मैनेजमेंट, नई दिल्ली डिजायर्स एंड डेस्टिनेशंस, मुंबई