जागरण संवाददाता, जयपुर! ट्विटर के नए मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) पराग अग्रवाल मूल रूप से राजस्थान में अजमेर के निवासी हैं। पराग के माता-पिता व दादा-दादी अजमेर के धानमंडी और खजाना गली में कई सालों तक किराए के घर में रहे हैं। बाद में उन्होंने बाहरी इलाके में खुद का घर बनाया। पराग के पिता रामगोपाल अग्रवाल स्वजनों के साथ 4 दिसम्बर को अजमेर आएंगे तो विभिन्न सामाजिक संस्थाओं की ओर से उनका स्वागत किया जाएगा । अग्रवाल फिलहाल पराग के पास अमेरिका में रह रहे हैं।

रिश्तेदार अब भी अजमेर में रह रहे हैं

अजमेर अग्रवाल समाज के अध्यक्ष शैलेंद्र अग्रवाल ने बताया कि पराग का जन्म 21 मई,1984 को अजमेर के जवाहर लाल नेहरू सरकारी अस्पताल में हुआ था । इसके बाद उनके पिता मुम्बई में काम के सिलसिले में रहने लगे थे। लेकिन उनके रिश्तेदार अब भी अजमेर में रह रहे हैं।

माता-पिता 4 तारीख को अजमेर में आएंगे

शैलेंद्र ने बताया कि पराग के दादा एक व्यापारी के यहां मुनीम का काम करते थे । अब जब पराग ट्विटर के सीईओ बने हैं तो यह अजमेर के लिए गौरव की बात है। ऐसे में पराग को भी यहां आने के लिए आमंत्रित किया गया है। उनके माता-पिता 4 तारीख को अजमेर में आएंगे तो उनका सम्मान किया जाएगा।

आईआईटी मुम्बई से इंजीनियरिंग की डिग्री

सीईओ बनने से पहले पराग ट्िवटर में चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर पद पर कार्यरत थे । इससे पहले स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करते हुए उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट,याहू और एंटीएंडटी जैसी बड़ी कम्पनियों में इंटर्नशिप की थी । उन्होंने आईआईटी मुम्बई से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की।

निरंतर सलाह और दोस्ती के लिए आभारी हूं

ट्विटर का नया सीईओ चुने जाने पर पराग अग्रवाल ने ट्वीट किया कि मैं सम्मानित और शुक्रगुजार हूं और मैं आपकी (जैक डार्सी) निरंतर सलाह और दोस्ती के लिए आभारी हूं। मैं आपके द्वारा बनाई गई इस सेवा और उद्देश्य के लिए आभारी हूं, जिन्होंने महत्वपूर्ण चुनौतियों के बीच कंपनी का नेतृत्व किया।

Edited By: Vijay Kumar