उदयपुर, संवाद सूत्र। अजगर दुनिया का एक ऐसा विशाल सांप होता हैं जो भूख में अपने शिकार को जिंदा ही निगल लेता हैं और अपनी जिंदगी भी दांव पर लगा लेता हैं। ऐसी ही एक घटना चित्तौड़गढ़ जिले के बेगूं कस्बे में देखने को मिली, जहां बारह फीट के एक अजगर ने जिंदा बकरी को ही निगल लिया। जिसके बाद वह रैंग नहीं पाया। ग्रामीण उसे मार देते, लेकिन समय रहते इसका पता वन विभाग को चल गया और उनकी टीम ने उसे बचाने के बाद जंगल में छोड़ दिया। हालांकि इससे पहले उसने बकरी को उगल भी दिया था।

मिली जानकारी के अनुसार घटना बेगूं उपखंड के डोराई ग्राम पंचायत के जल सागर बांध के पास की है। जहां एक ग्रामीण बकरियां चरा रहा था। इसी दौरान घात लगाए बैठे एक अजगर ने बकरी को अपना निवाला बना लिया। इस घटना को देखकर चरवाहा भयभीत हो गया और उसने अपने साथी चरवाहे को बुलाया।

जानकारी मिलते ही बहुत से ग्रामीण भी वहां एकत्रित हो गए और उन्होंने अजगर को मारने की तैयारी कर ली। बकरी को निवाला बनाने के चलते अजगर हिल-डुल भी नहीं पा रहा था। इसी बीच सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची। उन्होंने ग्रामीणों को अजगर मारने से रोका तथा एक बड़े बोरे में अजगर को डाला।

बताया गया कि बकरी का निवाला बनाने के बाद अजगर का वजन पचास किलो से अधिक हो गया था और ऐसे में उसे बोरे में डालने में बड़ी मशक्कत उठानी पड़ी। वहां से उसे पास के जंगल ले जाया गया। बोरे में से निकालते समय अजगर ने बकरी को उगल दिया था, हालांकि उसकी मौत हो चुकी थी। उसके बाद अजगर जंगल में चला गया।

क्षेत्रीय वन अधिकारी नारायण सिंह कच्छावा ने बताया कि यदि अजगर ने बकरी को नहीं उगला होता तो उसे अगले तीन महीने तक भोजन की जरूरत नहीं होती। किन्तु अब उसे फिर से भूख लगेगी और वह फिर शिकार करेगा।  

Edited By: Priti Jha