जयपुर, राज्य ब्यूरो। Lockdown. राजस्थान में लाॅकडाउन के दौरान आवश्यक सामान की आड़ में शराब तस्करी हो रही है। राजस्थान पुलिस ने जयपुर और डूंगरपुर में ऐेसे दो मामले पकड़े हैं। जयपुर में 35 लाख और डूंगरपुर में 50 लाख की शराब की तस्करी पकड़ी गई है।

लॉकडाउन के दौरान मालवाहक वाहनों को पुलिस नाकों पर नहीं रोके जाने के आदेश का फायदा उठाते हुए शराब की तस्करी की जा रही है। जयपुर ग्रामीण पुलिस ने शराब तस्करी करने वालो ऐसे एक अंतरराज्यीय गिरोह के खिलाफ कार्रवाई की है। पुलिस ने करीब 35 लाख रुपये की अवैध शराब बरामद की है।

जयपुर ग्रामीण एसपी शंकर दत्त शर्मा के अनुसार, पुलिस ने चंदवाजी थाना इलाके में यह कार्रवाई की। यह अवैध शराब ट्रक से पिकअप में लोड की जा रही थी। पिकअप में ऊपर सब्जियां थी और नीचे अवैध शराब के 50 कार्टन थे। इसी तरह ट्रक में भरे 873 कार्टन बरामद किए हैं। पुलिस ने मौके से शराब तस्कर रामजीलाल जाट (40) को गिरफ्तार किया है।

शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन में आवश्यक सामान जैसे खाद्य सामग्री, दूध, सब्जी, मेडिकल आदि का परिवहन करने वाले मालवाहक वाहनों को नहीं रोकने का आदेश है। शराब तस्कर इसी बात का फायदा उठाते हुए एक ट्रक पर एसेंशियल सर्विस का पर्चा चिपका कर शराब तस्करी कर रहे थे। इन्होंने इसके लिए सैनिटाइजर के रॉ-मटेरियल की सप्लाई के लिए पंजाब के अंबाला जिला मजिस्ट्रेट की स्वीकृति-पत्र बनवा रखा था। इसकी आड़ में ये छत्तीसगढ़ में बेची जाने वाली शराब को तस्करी के जरिये राजस्थान के अलग-अलग क्षेत्रों में सप्लाई करने की फिराक में थे। 

इसी तरह की कार्रवाई डूंगरपुर में के रतनपुर पुलिस चौकी पर की गई। यहां भीलवाड़ा से आ रहे एक ट्रक को पकडा गया। ट्रक में दवाइयां बताई जा रही थी। इसका बिल भी था। पुलिस ने रोक कर पूछताछ की तो दवाइयों की आड़ में शराब ले जाई जा रही थी। पुलिस ने हरियाण में बनी 675 पेटी अवैध शराब जब्त की। इसकी कीमत 50 लाख रुपये बताई जा रही है। यह शराब गुजरात के सूरत ले जाई जा रही थी। पुलिस ने दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस