जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्‍थान विश्वविद्यालय में होने वाले छात्रसंघ चुनाव ने हिंसा का रूप ले लिया है।मतदान से एक दिन पहले एनएसयूआई के प्रदेश अध्‍यक्ष और प्रत्‍याशी पर जानलेवा हमला किया गया है। दोनों को गंभीर हालत में जयपुर के एसएमएस अस्‍पताल के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

राजस्थान विश्वविद्यालय समेत राज्य के कॉलेज और यूनिवर्सिटीज में छात्रसंघ चुनाव के लिए 31 अगस्त को मतदान होने वाले है। जयपुर में राजस्थान विश्वविद्यालय कैंपस में एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया एवं यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष प्रत्याशी रणवीर सिंघानिया पर अरावली छात्रावास में छात्रों के एक गुट ने बुधवार देर रात करीब एक बजे हमला कर दिया है।

हमले में बुरी तरह से घायल हुए दोनों नेताओं को उनके साथियों ने अस्पताल पहुंचाया। हमले की खबर फैलते ही एनएसयूआई के कार्यकर्ता सड़कों पर आ गए। गुरूवार को दिनभर छात्रों और पुलिस में झड़प होती रही। इससे पहले बुधवार रात को हंगामा मचाते छात्रों पर पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा था।

कैम्पस में प्रचार के अंतिम दिन एबीवीपी, एनएसयूआई, निर्दलीय प्रत्याशी और उनके समर्थक केन्द्रीय पुस्तकालय के पास आमने-सामने आ गए। प्रत्याशी लाइब्रेरी के छज्जे पर चढ़कर नारेबाजी करने लगे। नीचे समर्थक आपस में उलझ गए. ऐसे में पुलिस ने प्रत्याशियों और उनके समर्थकों को यहां से खदेड़ने के लिए बल प्रयोग किया।

गहलोत और पायलट ने निंदा की

एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया और अध्यक्ष पद के प्रत्याशी रणवीर सिंह पर जानलेवा हमले की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने निंदा की है। दोनों नेताओं ने कहा कि राजनीति में हिंसा का कोई स्थान नहीं होना चाहिए। उन्होनें आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की है। विधानसभा में विपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी दोनों नेताओं के हाल जानने अस्पताल पहुंचे।  

Posted By: Preeti jha