मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान के चूरू जिले में एक सौतेले पिता अपनी 14 वर्षीय नाबालिग बेटी को एक लाख रुपये में बेच दिया। सौतेले पिता ने बेटी को बेचने के साथ ही उसका 30 साल के एक व्यक्ति के साथ जबरन विवाह भी कराया। विवाह के बाद उसके पति भूपेंद्र सिंह के साथ ही दो देवरों ने भी हवश का शिकार बनाया।

पीड़िता अपने ससुराल से बचकर नानी के पहुंची और फिर चूरू महिला पुलिस थाने में भूपेन्द्र सिंह और अंतर सिंह सहित 6 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और पोक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया। महिला थाना पुलिस ने पीड़िता का चूरू के राजकीय भरतिया अस्पताल में मेडिकल कराया है। पीड़िता ने बताया कि उसके पिता के निधन के बाद मां ने चूरू के ही एक व्यक्ति पर्वत सिंह से विवाह कर लिया था। लेकिन वह बचपन से अपनी नानी के यहां रही थी।

दसवीं कक्षा में पढ़ने के लिए पिता के यहां आई थी। वह पढ़ ही रही थी कि करीब छह माह पूर्व उसके सौतेले पिता ने चूरू जिले के रिडखला गांव निवासी भूपेंद्र सिंह को एक लाख रुपये लेकर बेच दिया। बेचने के साथ ही जबरन विवाह भी कराया। विवाह की सूचना नानी अथवा मामा को नहीं दी गई। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान मां चुप रही। मारपीट के बाद पति भूपेंद्र सिंह उससे मारपीट करने लगा। इसी दौरान दो देवरों ने भी जबरन दुष्कर्म किया।

यह सिलसिला काफी समय तक चलता रहा। पिछले दिनों मौका देखकर वह ससुराल से भाग कर अपनी नानी के आ गई और शुक्रवार को आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। थानाधिकारी राजेश ने बताया कि नाबालिग पीड़िता के बयान पर उसके सौतेले पिता सहित छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप