जयपुर, जागरण संवाददाता। पहले कोरोना महामारी और फिर बारिश के मौसम के चलते बंद पड़े प्रदेश के टाइगर रिजर्व अब 1 अक्टूबर (गुरुवार ) से पर्यटकों के लिये खोल दिये जायेंगे। लंबे इंतजार के बाद वन्य जीव प्रेमी टाइगर सहित अन्य वन्यजीवों को देख सकेंगे। टाइगर रिजर्व खोलने की तैयारियां पूरी कर ली गई है। अब बस पर्यटकों का इंतजार है।

जानकारी के अनुसार कोरोना महामारी के बीच अनलॉक-4 के दौर में गुरुवार से प्रदेश के रणथम्भौर टाइगर रिजर्व, मुकुंदरा और सरिस्का टाइगर रिजर्व को पर्यटकों के लिये खोल दिया जाएगा। इन अभयारण्यों में बफर जोन के अलावा मुख्य जोन भी खुलेंगे। इसके लिये रणथंभौर और सरिस्का रिजर्व में ट्रेक को भी सुधारा जा चुका है। इससे पर्यटन के लिए जंगल के रास्ते सुगम हो गए हैं। रणथंभौर में जोन 1 से जोन 5 में सुधार कार्य किया गया है। वहीं सरिस्का में कोर क्षेत्र में ट्रेक सुधार का काम चल रहा है।

अभयारण्य कोरोना की वजह से पहले दो माह बंद थे। उसके बाद मानसून में तीन महीने जंगल बंद रहे। इस दौरान नेचर गाइड्स व होटलकर्मियों पर रोजगार का काफी बड़ा संकट छाया रहा। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोग अब नये सीजन में अच्छे पर्यटन की उम्मीदें लगाये बैठे हैं।

उधर वन विभाग गुरुवार  से वन्यजीव सप्ताह भी मनायेगा। इसके तहत प्रदेशभर में जागरुकता कार्यक्रम आयोजित होंगे। कोरोना महामारी को देखते हुये इस बार ऑनलाइन कार्यक्रमों पर ज्यादा फोकस रहेगा जिससे भीड़ एकत्र न हो और जागरुकता ज्यादा आए। पहले कोरोना महामारी और फिर बारिश के मौसम के चलते बंद पड़े प्रदेश के टाइगर रिजर्व अब 1 अक्टूबर (गुरुवार ) से पर्यटकों के लिये खोल दिये जायेंगे। लंबे इंतजार के बाद वन्य जीव प्रेमी टाइगर सहित अन्य वन्यजीवों को देख सकेंगे। टाइगर रिजर्व खोलने की तैयारियां पूरी कर ली गई है। अब बस पर्यटकों का इंतजार है।

जयपुर के नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में भी जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में आयोजित होने वाले जागरुकता कार्यक्रम में ऑन लाइन पार्टिसिपेशन करने के लिये लिंक भी जारी किया गया है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस