जयपुर, एएनआई। राजस्थान में बारां जिले के छबड़ा इलाके में बुधवार को एक नाले में 300 से अधिक बैंक एटीएम कार्ड पड़े मिले। ये कार्ड क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक द्वारा जारी किए गए थे। ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब लोगों को बैंक से जोड़ने के लिए प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत बैंक खाते खोलने के बाद ये कार्ड ग्रामीणों तक पहुंचाए जाने थे। साल 2016 में जारी ये कार्ड बैंक खाताधारियों के पास भेजे गए थे, लेकिन बैंक प्रशासन की लापरवाही के चलते ऐसा नहीं हो सका। 

 

जनधन योजना के तहत खाते खोले जाने के करीब तीन साल बाद छबड़ा इलाके में क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के ये एटीम कार्ड ग्राहकों तक पहुंचने की जगह अब नाले में पड़े मिले है। राहगीरों ने जब बंद लिफाफे में एटीम कार्ड नाले में पड़े देखे तो बैंक को सूचना दी गई। बैक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में बैक कर्मचारी मौके पर पहुंचे और नाले से कार्ड समेट कर बैंक ले गए।

बैंक के प्रबंधक गुलाब चंद बैरवा का कहना है कि प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 2016 में ये कार्ड जारी किए गए थे, तब इन्हें खातेदारों को बांटने के लिए बैंक से भेजा गया था। लेकिन इनमें से कुछ खाते बंद हो गए और कुछ ब्लॉक होने से नहीं बांटे जा सके। शुरुआती जांच में सामने आया है कि जिस व्यक्ति को एटीएम कार्ड बांटने का जिम्मा दिया गया था, उसके पास ही ये रखे हुए थे। बैंक मैनेजर की मानें तो एक दिन पहले उसके यहां से सामान अन्य स्थान पर शिफ्ट किया जा रहा था और इस दौरान लापरवाही से ये कार्ड नाले में गिर गए । 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस