जयपुर, जेएनएन। राजस्थान में 16 नवंबर को हुए 49 नगरीय निकाय के चुनाव की मतगणना में भाजपा से कांग्रेस आगे है। 2105 वार्डों के लिए चुनाव हुआ था। इसमें से अभी तक घोषित परिणामों में भाजपा 407, कांग्रेस 504, बसपा 12, सीपीएम दो, निर्दलीय ने 204 सीटों पर जीत हासिल की है। पुष्कर और ब्यावर में भाजपा को बहुमत मिला है, वहीं कोटा कैथून और सांगोद में कांग्रेस को बहुमत हासिल हुआ है। उदयपुर और बीकानेर में भाजपा को और भरतपुर में कांग्रेस आगे है। 

पार्षद पदों की मतगणना के बाद 26 नवंबर को निकाय अध्यक्षो का चुनाव होगा और निर्वाचित पार्षद निकाय अध्यक्ष चुनेंगे। वहीं, 27 नवंबर को उपाध्यक्षो का चुनाव होगा। परिणम घोषित होने के साथ ही कांग्रेस और भाजपा ने अपने विजयी प्रत्याशियों की घेराबंदी शुरू कर दी है, ताकि निकाय अध्यक्ष के चुनाव तक किसी तरह का दल बदल या क्रॉस वोटिंग की संभावना न रहे। 

Rajasthan Local Body Elections Results 2019, राज्य के 49 नगर निकाय के लिए शनिवार (16 नवंबर, 2019) को वोटिंग हुई थी। इन 49 में 28 नगर पालिका, 18 नगर परिषद और तीन नगर निगम शामिल हैं, जबकि इन सभी निकायों में कुल 30 लाख से अधिक मतदाता हैं। 

राजस्थान के निकाय चुनाव में भाजपा को झटका लगा है। कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरती है। पिंडवाड़ा, सूरतगढ़, भरतपुर, फलौदी, बीकानेर, माउंटआबू, कोटा, डीडवाना, पुष्कर, उदयपुर, झुंझुनूं की अधिकतर सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों ने जीत दर्ज कर ली है। माउंटआबू की 25 सीटों में 18 सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों जीत दर्ज की है।

ऐसे में माउंटआबू में कांग्रेस का बोर्ड बनना तय माना जा रहा है। सूरतगढ़, भरतपुर में भी कांग्रेस में के अधिकतर उम्मीदवारों ने जीत कर ली है। सूत्रों ने बताया कि तीनों जगह कांग्रेस का बोर्ड बनना तय माना जा रहा है। बता दें कि राजस्थान के 49 नगर निकायों में 2,000 से अधिक पार्षद पदों के लिए हुए चुनावों के लिए मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है। इसके लिए सुरक्षा व अन्य बंदोबस्त कर लिए गए हैं। राज्य में तीन नगर निगमों, 18 नगर परिषद और 28 नगरपालिकाओं यानी कुल 49 निकायों में सदस्य पार्षद पद के लिए शनिवार को मतदान हुआ था। चुनाव में कुल 71.53 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था।

गहलोत बोले, हम काम में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे

इस बीच, सीेएम अशोेक गहलोत ने कहा है कि उम्मीद और अपेक्षा के अनुकूल ही निकाय चुनाव में परिणाम आते दिख रहे हैं। यह बहुत प्रसन्नता की बात है कि सरकार जिस रूप में परफॉर्म कर रही है, उसी रूप में जनता ने मैंडेट दिया है। मैं जनता को कहना चाहूंगा कि आप निश्चिंत रहें, हम लोग काम करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

कांग्रेस सरकार की नीतियां ठीक नहीं रहीः कटारिया

नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा है कि जनता का आभार ईमानदारी से जनता की सेवा और शहर का विकास करेंगे। कांग्रेस ने मात्र 18 वार्ड जीतकर कोई बड़ा कीर्तिमान नहीं स्थापित किया है। कांग्रेस सरकार की नीतियां ठीक नहीं रही। परिसीमन से वार्ड छोटे हो गए। ऐसे में भ्रम रहा। कार्यकर्ता पर्ची वोटर तक नहीं पहुंचा पाए। इस कारण भी मतदान प्रभावित हुआ। लेकिन जनता और हमारी पार्टी के कार्यकर्ता का आभार कि हम छठी बार जीत गए। 

सीकर 

सीकर जिले में तीनों निकायों के परिणाम घोषित

सीकर नगर परिषद परिणाम घोषित

65 वार्डों का परिणाम घोषित

 कांग्रेस का बोर्ड बनना तय 

कांग्रेस ने 37 वार्डों में कांग्रेस ने मारी बाजी

 भाजपा 18 वार्ड में विजयी

9 वार्डों में निर्दलीय विजयी घोषित 

1 वार्ड में माकपा का प्रत्याशी विजयी घोषित

खाटूश्यामजी नगर पालिका चुनाव परिणाम

 बीजेपी रही बहुमत में।

 खाटूश्यामजी में  बीजेपी का बोर्ड बनना तय

 बीजेपी  11 पर विजयी

 कांग्रेस तीन और छह निर्दलीय प्रत्याशी जीते

नीमकाथाना नगर पालिका

कांग्रेस का बना बोर्ड

कांग्रेस  18 पर जीती

 भाजपा 15 पर मारी बाजी

 2 निर्दलीय ने मारी बाजी ।

रावतभाटा नगरपालिका का परिणाम घोषित

कुल 40 वार्डों में से 26 कांग्रेस  11 भाजपा और तीन निर्दलीय

बीकानेर निकाय चुनाव परिणाम

भाजपा 38

कांग्रेस 30

BSP - 01

निर्दलीय 11

टोंक में 60 वार्डों के परिणाम घोषित ,कांग्रेस को मिली 27 सीटे, बीजेपी को मिली 23 सीटें मिली,10 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी जीते,टोंक में निर्दलीयों की भूमिका होगी महत्वपूर्व।

बांसवाड़ा

नगर परिषद बांसवाड़ा परिणाम घोषित

कांग्रेस का बोर्ड बनाना हुआ तय

37 सीटो पर कांग्रेस जीती

3 सीटो पर निर्दलीय ने जीत हासिल की

19 सीटो पर बीजेपी ने की जीत दर्ज

जैनेन्द्र त्रिवेदी के सभापति बनना हुआ तय

भिवाड़ी नगर परिषद चुनाव का फाइनल रिजल्ट

कांग्रेस के पार्षद 23

भाजपा के पार्षद 23

बीएसपी के पार्षद 2

निर्दलीय के पार्षद 12

-बांसवाड़ा

वार्ड नंबर 2 से भाजपा के धनेश रावत जीते

वार्ड नंबर 3 से कांग्रेस के गोविंद गुर्जर

वार्ड नंबर 5 से कांग्रेस के सुरेश कलाल

वार्ड नंबर 6 से कांग्रेस के प्रहलाद सिंह राव

वार्ड नंबर 9 से भाजपा के योगेश जोशी

वार्ड नंबर 10 से भाजपा के युगल उपाध्याय

वार्ड नंबर 11 से भाजपा की सोनिया वैष्णव

वार्ड नंबर 12 से कांग्रेस के मुकेश जोशी

वार्ड नंबर 13 से कांग्रेस के भरत यादव

वार्ड नंबर 14 से कांग्रेसी देव बाला

वार्ड 16 नंबर 16 में उलझ गया मामला-भाजपा और कांग्रेस दोनों प्रत्याशियों को मिले 292- 292। यहां भाजपा की ओर से किरण तो कांग्रेस की ओर से शंकर लाल यादव।

वार्ड नंबर 17 से कांग्रेस के गोकुल जैन जीते

वार्ड नंबर 18 से प्रेमलता जोशी कांग्रेस की जीती

वार्ड नंबर 19 से कांग्रेस के विनोद निनामा

वार्ड नंबर 20 से महावीर बोरा बीजेपी के

वार्ड नंबर 22 से ओम प्रकाश पालीवाल

वार्ड नंबर 23 से बीजेपी के कल्पेश

वार्ड नंबर 24 से बीजेपी की शालिनी जैन

वार्ड नंबर 25 से बीजेपी के आशीष आर जैन

वार्ड नंबर 27 से बीजेपी के अशोक शर्मा

वार्ड नंबर 28 से कांग्रेस की गीता

-बाँसवाड़ा नगर निकाय चुनाव- 36 पर कांग्रेस आगे। जबकि 19 पर भाजपा।

-उदयपुर नगर निगम चुनाव परिणाम

नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया के रिश्तेदार अतुल चंडालिया और कांग्रेस की पूर्व मंत्री गिरिजा व्यास की भतीजा बहू हिमांशी शर्मा की हार

-उदयपुर नगर निगम चुनाव परिणाम

वार्ड 29 से लोकेश गोड विजयी कांग्रेस

वार्ड 43 से रवि तरवाड़ी विजयी कांग्रेस

वार्ड 15 से चन्द्रकला बोल्या विजयी भाजपा

वार्ड 1 से मुकेश गमेती विजयी भाजपा

वार्ड 57 से छोगालाल भोई विजयी भाजपा

वार्ड 44 से संजय भगतानी जीते कांग्रेस

वार्ड 30 से रमेश जैन विजयी भाजपा

वार्ड 31 विद्या भावसार जीती भाजपा

वार्ड 3 प्रशांत श्रीमाली जीते कांग्रेस

वार्ड 16 गणेश मेघवाल कांग्रेस

वार्ड 58 से शिल्पा पामेचा कांग्रेस

वार्ड 46 से मनोहर चौधरी भाजपा

वार्ड 45 से शोएब हुसैन जनता सेना

वार्ड 4 से अरुण टाक कांग्रेस

वार्ड 17 से ताराचंद जैन भाजपा

वार्ड 32 से ललिता मेनारिया भाजपा

वार्ड 47 से करण सिंह

-उदयपुर नगर निगम

वार्ड नंबर 45 से शोऐब जनता सेना जीते। वार्ड 31 से भाजपा की विद्या भावसार चुनाव में जीती।

वार्ड 16 से कांग्रेस के गणेश मेघवाल और 58 से शिल्पा पामेचा को मिली जीत। वार्ड 16 से माकपा के राजेंद्र वसीटा 4 वोट से जीते।

-नाथद्वारा नगरपालिका चार राउंड पूरे हुए। 14 में कांग्रेस, चा में भाजपा और एक सीट पर निर्दलीय जीते।

-निंबाहेड़ा निकाय चुनाव रिजल्ट

वार्ड नं 12- Congress

वार्ड नं 13-. Congress

वार्ड नं 14- Congress

वार्ड नं 15- Bjp

वार्ड नं 16- Congress

वार्ड नं 17- Congress

वार्ड नं 18- Bjp

वार्ड नं 19- Congress

वार्ड नं 20- Bjp

वार्ड नं 21- Congress

वार्ड नं 22- Bjp

वार्ड नं 23- Congress

वार्ड नं 24- Congress

-उदयपुर में खुला कांग्रेस का 2 वार्डों में खाता।उदयपुर के वार्ड 29 से कांग्रेस के लोकेश गौड़ और वार्ड 43 से कांग्रेस के रवि तरवाड़ी जीते। भाजपा की चंद्र कला बोल्या वार्ड 15 से 540 वोट से जीती।

-राजसमन्द:आमेट नगरपालिका चुनाव परिणाम सभी पांच चरणों के बाद 17 पर कांग्रेस और 8 पर भाजपा जीती। कांग्रेस ने बोर्ड बनाया।

 

राजस्थान के तीन नगर निगमों, 18 नगर परिषदों और 28 नगरपालिकाओं के लिए 16 नवंबर को मतदान हुआ था। चुनाव में कुल 71.53 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और इन निकायों के 2105 वार्डों के लिए अपने जनप्रतिनिधि चुने। 

सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी भाजपा ने अपने अपने प्रत्याशियों की घेराबंदी शुरू कर दी है। कांग्रेस और भाजपा ने प्रमुख निकायों में अपने-अपने वार्ड पार्षद प्रत्याशियों को इकट्ठा कर किसी होटल, रिसोर्ट या अन्य स्थान पर भेज दिया है। कई जगह निर्दलीय प्रत्याशियों की बैठकें भी हो रही हैं, ताकि किसी भी तरह का समीकरण बनने पर साथ मिलकर एक राय तय की जा सके। दोनों दलों के वरिष्ठ नेता अपने प्रत्याशियों की घेराबंदी की माॅनिटरिंग कर रहे हैं।

अलवर में कांग्रेस ने भिवाड़ी नगर परिषद के प्रत्याशियों को अलवर के गोल्डन बाग रिसोर्ट में ठहराया है। इसके अलावा दो अन्य जगहों पर निर्दलीय और अन्य पार्टियों के संभावित विजेता प्रत्याशियों को रुकवाया गया है। इसकी कमान तिजारा विधायक संदीप यादव के पास है। सीकर में कांग्रेस ने पहले प्रत्याशियों को शहर की एक होटल में ले गई थी, लेकिन अब दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया है।

भरतपुर में भाजपा और कांग्रेस दोनों ने घेराबंदी की है। भाजपा के कुछ प्रत्याशियों को मथुरा भेजा गया है। दोनों दल निर्दलियों के संपर्क में भी है। चूरू में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ के आवास पर प्रत्याशी ले जाए गए और उसके बाद इन्हें दूसरी जगह भेजा गया। अजमेर के पुष्कर में भी भाजपा ने प्रत्याशियों को जगह रोका गया है। इनके अलावा जैसलमेर, बांसवाडा, पाली में भी घेराबंदी की सूचना है।

वसुंधरा भी जुटी रणनीति बनाने में

निकाय चुनाव मतदान के बाद अब तक पार्टी की गतिविधियों से दूर नजर आ रही पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी अब सक्रिय हो गई है। मतगणना के बाद भाजपा के बोर्ड बनाने की रणनीति के लिए उन्होंने रविवार को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय पहुंच कर प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और अन्य प्रमुख नेताओं से करीब डेढ़ घंटे तक रणनीति पर चर्चा की। पार्टी ने संगठन के वरिष्ठ नेताओं को निकायों में बोर्ड बनाने की जिम्मेदारी सौंपी है। जिन निकायों में निर्दलीयों की मदद से बोर्ड बनने की संभावना है वहां भी प्रदेश इकाई के पदाधिकारियों को सक्रिय रहने को कहा गया है।

पिछली बार भाजपा का पलड़ा भारी

जिन 49 निकायों में चुनाव हुआ है, वहां पिछले चुनाव में भाजपा का पलड़ा भारी रहा था। इस बार छह निकायों में पहली बार चुनाव हुआ है। ऐसे में पिछली बार 43 निकायों में चुनाव हुआ था और इनमें से 35 जगह भाजपा के अध्यक्ष थे, जबकि सात जगह कांग्रेस के अध्यक्ष थे। ऐसे में भाजपा का बहुत कुछ दांव पर लगा है, जबकि कांग्रेस चूंकि अभी सत्ता में है, इसलिए इसकी भी प्रतिष्ठा दांव पर है।  

यह भी पढ़ेंः गुलाबचंद कटारिया बोले, संगठन में साबित करनी होगी अहमियत

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप