Move to Jagran APP

Rajasthan Crime: जब मैंने अपना बयान दिया तो मजिस्ट्रेट ने मुझे रोका और कहा- 'अपने कपड़े खोलो' और फिर पुलिस को दर्ज करनी पड़ी FIR

पीड़िता का आरोप है कि बयान दर्ज करने के बाद मजिस्ट्रेट ने उसे रोका और कपड़े खोलने को कहा। इसके बाद पीड़िता ने हिंडौन कोतवाली पुलिस स्टेशन में मजिस्ट्रेट के खिलाफ मामला दर्ज कराया। मामले की जांच करौली एसटी-एससी सेल प्रभारी उपाधीक्षक मीना मीना को सौंपी गई है। पीड़िता ने कहा कि मजिस्ट्रेट ने मुझसे जो भी कहा कि मैं नहीं चाहती कि ऐसा किसी और पीड़िता के साथ हो।

By Jagran News Edited By: Narender Sanwariya Mon, 01 Apr 2024 05:17 PM (IST)
राजस्थान में सामूहिक बलात्कार पीड़िता ने मजिस्ट्रेट पर लगाया दुर्व्यवहार का आरोप (File Photo)

आईएएनएस, जयपुर। राजस्थान के करौली जिले में एक सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने मजिस्ट्रेट पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि जब वह अपने बयान दर्ज कराने मजिस्ट्रेट के पास पहुंची तो मजिस्ट्रेट ने चोटों को देखने के लिए कपड़े खोलने के लिए कहा।

पीड़िता द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत में कहा गया है कि जब मैंने अपना बयान दिया तो मजिस्ट्रेट ने मुझे रोका और कहा- अपने कपड़े खोलो, मैं तुम्हारे शरीर पर चोट के निशान देखना चाहता हूं। पुलिस ने मजिस्ट्रेट के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि राजस्थान के हिंडौन सिटी क्षेत्र निवासी 18 वर्षीय पीड़िता के साथ 19 मार्च को कुछ युवकों ने दुष्कर्म किया था। पीड़िता ने कोर्ट की शरण ली और कोर्ट के आदेश पर 27 मार्च को हिंडौन सदर थाने में मामला दर्ज किया गया।

पुलिस ने 27 मार्च को ही मेडिकल कराया था। दुष्कर्म मामले की जांच हिंडौन पुलिस उपाधीक्षक द्वारा की जा रही है। 30 मार्च को हिंडौन सिटी की मजिस्ट्रेट कोर्ट में पीड़िता का बयान भी दर्ज किया गया। कोर्ट में बयान के बाद पीड़िता हिंडौन पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय पहुंची और शिकायत दर्ज कराई।

पीड़िता का आरोप है कि बयान दर्ज करने के बाद मजिस्ट्रेट ने उसे रोका और 'कपड़े खोलने' को कहा। इसके बाद पीड़िता ने हिंडौन कोतवाली पुलिस स्टेशन में मजिस्ट्रेट के खिलाफ मामला दर्ज कराया। मामले की जांच करौली एसटी-एससी सेल प्रभारी उपाधीक्षक मीना मीना को सौंपी गई है।

रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद पीड़िता ने कहा कि मजिस्ट्रेट ने मुझसे जो भी कहा कि मैं नहीं चाहती कि ऐसा किसी और पीड़िता के साथ हो। इसलिए जरूरी है कि आरोपी मजिस्ट्रेट को सजा मिले।

जांच अधिकारी मीना मीना ने कहा कि मामला गंभीर है और इसकी गहनता से जांच कराएंगे। अभी मुझे सिर्फ रिपोर्ट मिली है। पीड़िता के भी बयान लिए जाएंगे।

हिंडन पुलिस स्टेशन के सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) हरलाल सिंह ने घटना की पुष्टि की और कहा कि टीम मामले में गहन जांच कर रही है और मीना मीना को मामले की जांच का काम सौंपा गया है।

यह भी पढ़ें: राजस्थान के अलवर में हैंडपंप से पानी लेने गया था आठ वर्षीय मासूम, बाल्टी छूने पर लड़के से हुई मारपीट