जागरण संवाददाता, जयपुर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर मंगलवार को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी का जयपुर में विशेष सत्र हुआ। सत्र में कांग्रेस सत्ता और संगठन की मजबूती पर मंथन करने के साथ ही दिग्गज कांग्रेसियों ने एक तरफ जहां केंद्र सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा, वहीं दूसरी तरफ एक-दूसरे पर भी शब्दबाण चलाए भी चलाए।

इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जो लोग अंग्रेजों के लिए मुखबिरी करते थे, वो आज महात्मा गांधी और सरदार पटेल की बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आरएसएस के लोग अंग्रेजों की मुखबिरी करते थे। स्वतंत्रता सेनानियों की मुखबिरी करके उन्हें फंसाने का काम करते थे। भाजपा और आरएसएस के लोग पहले देश से माफी मांगने और फिर गांधी का नाम लें। आज चुनाव जीतने और राजनीति करने के लिए आरएसएस और भाजपा को गांधी का नाम लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में देश का लोकतंत्र खतरे में है। देश में भय का माहौल है।

उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने अभी अमेरिका यात्रा के दौरान गांधी जी द्वारा बताए गए सात पाप गिनाए, जैसे मोदी ने नई खोज की हो। मोदी एक अभिनेता की तरह काम करते हैं, जिस तरह फिल्मों में अभिनेता स्क्रीन पर प्यार करता है, लेकिन उसमें सच्चाई नहीं होती, उसी तरह मोदी एक्टिंग करते हैं। गहलोत ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी अमेरिका में ट्रंप का हाथ पकड़कर धूम रहे हैं। वहां मोदी ने अगली बार ट्रंप सरकार का नारा दिया। यह एक बड़े राष्ट्र के प्रधानमंत्री के लिए शोभा नहीं देता है। उन्होंने कहा कि मोदी यह घमंड नहीं करे कि अमेरिका में उनका सम्मान हो रहा है। यह सम्मान देश की 70 साल की मेहनत का नतीजा है। उन्होंने कहा कि सैनिकों के शौर्य पर भाजपा राजनीति करती है। मोदी को यह घमंड नहीं करना चाहिए कि वे भारी बहुमत से जीते हैं, जिस जनता ने जिताया वह हराना भी जानती है।

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि गांधी जी ने अपने विरोधियों को भी मान-सम्मान दिया। लोकतंत्र में हमें सभी के सम्मान का ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव और आगामी स्थानीय निकाय व पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव की तैयारियों में जुटने के लिए कार्यकर्ताओं से आह्वान किया। अधिवेशन में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे, सचिव विवेक बंसल और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास ने भी संबोधित किया।

एक-दूसरे पर चलाए शब्दबाण

गहलोत और पायलट के बीच चल रही खींचतान मंगलवार को अधिवेशन में भी देखने को मिली। गहलोत ने अपने संबोधन के दौरान पीसीसी द्वारा उन्हें बोलने के लिए 10 मिनट का समय ही देने और राज्य सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार करने के लिए राजनीतिक सम्मेलन आयोजित करने की बात कही। इसके बाद पायलट ने अपने संबोधन में गहलोत की तरफ इशारा करते हुए कहा कि जब तक मैं अध्यक्ष हूं, आप जितना चाहें उतनी देर तक बोल सकते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में संवाद की परंपरा रही है, जल्द ही एक राजनीतिक सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इस सम्मेलन में कार्यकर्ताओं से सुझाव लेकर सरकार को भेजे जाएंगे। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता सरकार में अपनी मुखरता से आवाज रखे।

सदस्यता अभियान का आगाज 

गहलोत, पायलट और पांडे ने मंगलवार शाम जयपुर के सांगानेर बस स्टैंड से सदस्यता अभियान की शुरुआत की। यहां उन्होंने लोगों से सदस्यता फार्म भरवाए। तीनों नेताओं के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर सदस्यता फार्म भरवाए। पायलट ने कहा कि सदस्यता अभियान से नए मतदाता, युवा, महिला व शिक्षाविदों को जोड़ा जाएगा।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप