उदयपुर, जेएनएन। प्रतापगढ़ में जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेन्द्र कुमार शर्मा एवं उनकी पत्नी पारिवारिक न्यायालय की पीठासीन अधिकारी आशा कुमारी ने घोषणा की है कि आतंकी हमले में शहीद राजसमंद के नारायणलाल गुर्जर की बेटी हेमलता की पढ़ाई-लिखाई और उससे जुड़े खर्च की सभी जिम्मेदारी वह उठाएंगे।

न्यायाधीश शर्मा ने कहा कि अगर शहीद की बेटी या बेटा उनके साथ रहकर अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहते हैं तो वह उन्हें अपने परिवार के सदस्य के रूप में रखेंगे।

जिला जज राजेंद्र कुमार शर्मा की पहल पर न्यायिक अधिकारियों ने अपनी ओर से 11-11 हजार और पांच-पांच हजार की राशि शहीदों को देने की शुरुआत की।

इसके बाद वकीलों और न्यायिक कर्मचारी, शहर की सामाजिक संस्थाएं भी आगे आई। शहीदों के परिवार के सहयोग के लिए दो दिन में पांच लाख रुपए से अधिक राशि एकत्रित की गई है।

बताया गया कि जिला एवं सेशन न्यायाधीश राजेंद्र कुमार शर्मा के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल राजस्थान के शहीदों को घर जाकर उन्हें सहायतार्थ राशि परिजनों को खुद सौंपेंगे। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha