उदयपुर, संवाद सूत्र। भगवान राम और महाराणा प्रताप पर दिए अमर्यादित बयान के विरोध में गुरुवार को मेवाड़ क्षत्रिय समाज महासभा के बैनर तले सर्व समाज का आक्रोश फूटा। नेता प्रतिपक्ष और उदयपुर शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया के खिलाफ सर्व समाज ने प्रदर्शन किया और अनर्गल बयान देने के खिलाफ उन्हें खुली चेतावनी दी। प्रदर्शन गुरुवार सुबह 11 बजे से जिला कलक्ट्रेट कार्यालय पर शुरू हुआ और बाद में उनके खिलाफ मामला दर्ज किए जाने की मांग को लेकर जिला कलक्टर को दिए ज्ञापन के साथ समाप्त हुआ। प्रदर्शन में शहर के बीस से अधिक सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने शिरकत की। मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष बालू सिंह कानावत, महामंत्री तनवीर सिंह कृष्णावत के नेतृत्व में सर्व समाज के प्रतिनिधियों के अलावा कांग्रेस के ग्रामीण जिला अध्यक्ष लाल सिंह झाला समेत कई नेता शामिल हुए।

सभी का कहना था कि भगवान राम और महाराणा प्रताप पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले कटारिया के खिलाफ यह प्रदर्शन किया गया है। इसमें क्षत्रिय समाज के समस्त संगठनों के साथ शहर के सर्व समाज के लोगों ने भी शिरकत की। जन आक्रोश दिवस के रूप में मनाए जा रहे सर्व समाज के इस आंदोलन को राजसमंद, डूंगरपुर, बांसवाड़ा और चित्तौड़गढ़ के क्षत्रिय समाज ने ही नहीं, बल्कि सर्व समाज के लोगों ने समर्थन दिया। रैली में राम-राणा का अपमान, नहीं सहेगा मेवाड़ जैसे नारे गूंजे। वक्ताओं ने कहा कि महाराणा प्रताप का अपमान मेवाड़ के स्वाभिमान के साथ खिलवाड़ है। वह हमारे पूजनीय है। उनको कहे गए अमर्यादित शब्दों के लिए समाज कटारिया को कभी माफ नहीं करेगा। प्रदर्शन के दौरान सभी उम्र के लोग मौजूद थे। वरिष्ठ जनों ने कटारिया को हिदायत की दी कि वे सार्वजनिक तौर पर अमर्यादित बयानों को देने से बचें। वक्ताओं ने कहा कि राम और राणा दोनों ही समाज के आदर्श हैं। उनके खिलाफ जो भी भद्दी टिप्पणी करेगा, समाज की 36 कौम उनके विरोध में स्वर बुलंद करेगी। चार घंटे तक चले प्रदर्शन के बाद प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधिमंडल ने जिला कलक्टर को दिए ज्ञापन में नेता प्रतिपक्ष कटारिया के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 295ए के तहत मामला दर्ज कराए जाने के निर्देश दिए जाने की मांग की।

लगातार विवादित बयानों से घिरे रहते हैं गुलाबचंद कटारिया

नेता प्रतिपक्ष और शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया के विवादित बयान पार्टी के लिए भी चिंता का विषय है। पिछले विधानसभा चुनावों के दौरान कटारिया ने चुनाव प्रचार के दौरान पानी की समस्या को लेकर पहुंची महिलाओं को कह दिया था कि अपने वोट कुएं में डाल देना। इसके बाद इसी साल राजसमंद में हुए उप चुनाव में एक सभा के दौरान कटारिया ने मंच पर भाषण देते हुए महाराणा प्रताप पर विवादित टिप्पणी कर दी थी। पिछले माह भटेवर में आयोजित एक सभा में कटारिया ने भगवान राम पर टिप्पणी की थी।  

Edited By: Sachin Kumar Mishra