राज्य ब्यूरो, जयपुर। Film Shooting In Rajasthan: उत्तर प्रदेश की तर्ज पर अब राजस्थान में भी फिल्म शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए 15 प्रतिशत सब्सिडी देने की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही शूटिंग की अनुमति के लिए सिंगल विंडो और समयबद्ध प्रक्रिया व अलग प्रकोष्ठ गठित किए जाने का भी प्रस्ताव है। राजस्थान की नई पर्यटन नीति में ये प्रावधान प्रस्तावित किए गए हैं। राजस्थान में वैसे तो लंबे समय से शूटिंग होती रही है और जयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर में काफी फिल्मों की शूटिंग होती रही है। लेकिन अब तक सरकार की ओर से फिल्म निर्माताओं को ज्यादा सुविधाएं नही मिलती थी। इसके अलावा पद्मावत फिल्म की शूटिंग के दौरान हुई घटनाओं के चलते निर्माता दूसरे राज्यों की ओर रुख करने लगे थे। कोविड के चलते भी शूटिंग का काम प्रभावित हुआ है।

इन सब स्थितियों को देखते हुए अब सरकार फिल्म शूटिंग पर विशेष ध्यान दे रही है और इसे राजस्थान में पर्यटन को बढ़ावा देने का प्रमुख जरिया मान रही है। पर्यटन विभाग के अधिकारियों के अनुसार राजस्थान के ऐतिहासिक स्थलों, यहां की कला, संस्कृति आदि को पूरी दुनिया में प्रचारित करने में फिल्में अहम भूमिका निभा सकती हैं। इसी को देखते हुए नई पर्यटन नीति में फिल्म पर्यटन को विशेष महत्व दिया गया है। नीति में राजस्थान में ही शूटिंग करने पर फ़िल्म की लागत की 15 प्रतिशत सब्सिडी देने का प्रावधान किया गया है।

इसके साथ ही फिल्म पर्यटन के लिए अलग प्रकोष्ठ बनाने का भी प्रावधान किया गया है। यह प्रकोष्ठ शूटिंग की अनुमति देने की प्रक्रिया को समयबद्ध ढंग से पूरा कराएगा और सिंगल विंडो की तरह काम करेगा। इसके साथ ही सुरक्षा के भी पूरे प्रबंध किए जाएंगे। राजस्थान में फिल्मसिटी बनाने वाले निवेशकों को एकमुश्त पैकेज देने का प्रावधान भी किया जा रहा है। मुख्यमंत्री और कैबिनेट से अनुमति मिलने के साथ ही यह नीति लागू कर दी जाएगी इस बीच, राजस्थान में विज्ञापन फिल्मों और म्यूजिक वीडियो आदि की शूटिंग शुरू हो गई है। सरकार ने कोविड को देखते हुए इसके लिए अलग से गाइडलाइन जारी की है। इसका पालन करते हुए राजस्थान के ऐतिहासिक स्थलों पर शूटिंग की अनुमति दी जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस