जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस विधायकों और संगठन के पदाधिकारियों की सिफारिश पर राज्य प्रशासनिक सेवा (आरएएस) और राज्य पुलिस सेवा (आरपीएस) के अधिकारियों के तबादले करने की तैयारी की जा रही है। विधायकों और संगठन के पदाधिकारियों की सिफारिश पर उपखंड अधिकारी, अतिरिक्त जिला कलेक्टर, पुलिस उप अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और शहरी निकायों में अधिकारी तैनात करने को लेकर सूची बनाई जा रही है। सूत्रों के अनुसार, अगले सप्ताह तक करीब दो सौ अधिकारियों की तबादला सूची जारी होगी। सरकार की मंशा के अनुरूप काम करने वाले भारतीय पुलिस सेवा (आइपीएस) अधिकारियों की तबादला सूची भी शीघ्र जारी होने की उम्मीद है। इस सूची में अधिकांश जिलों में पुलिस अधीक्षक बदले जाएंगे। कोटा में पुलिस अधीक्षक के स्थान पर पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू किए जाने की भी तैयारी है।

राज्य में बड़े पैमाने पर होगा प्रशासनिक फेरबदल

कार्मिक विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि अगले 15 दिन में राज्य में बड़े पैमाने पर प्रशासनिक फेरबदल होगा। इससे पहले रविवार रात बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करते हुए 52 आइएएस अधिकारियों के तबादले किए गए हैं। इनमे 25 जिलों में कलेक्टर बदलने के साथ ही आबकारी आयुक्त और स्वायत शासन सचिव जैसे महत्वपूर्ण पदों में बदलाव किया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय में कार्यरत राजन विशाल को जयपुर, भगवती प्रसाद कलाल को बीकानेर, हिमांशु गुप्ता को जोधपुर, हरिमोहन मीना को कोटा, लक्ष्मण कुड़ी को झुंझुनूं और अंशदीप को अजमेर जैसे महत्वपूर्ण जिलों में कलेक्टर लगाया गया है। शेष 19 छोटे जिलों में पद्दोनत और नए अधिकारियों को कलेक्टर लगाया गया है। वहीं, चेतन राम देवड़ा को आबकारी आयुक्त और जोगाराम को स्वायत शासन सचिव के पद पर लगाया गया है। वित्त विभाग के प्रमुख सचिव अखिल अरोड़ा की सूचना और जनसंपर्क विभाग का भी जिम्मा सौंपा गया है। इसके अलावा भी प्रदेश में आगामी विभानसभा चुनाव से पहले कुछ अन्य तबादले भी हो सकते हैं।

Edited By: Sachin Kumar Mishra