अजमेर, जागरण संवाददाता। आगामी 26 सितम्बर 21 को राजस्थान अध्यापक पात्रता (REET) परीक्षा-2021 को देखते हुए रोडवेज प्रशासन ने 24 से 28 सितम्बर तक के लिए आम यात्री का आनलाइन टिकट बुक नहीं करने का निर्णय किया है साथ ही जिन्होंने करवा रखे बुक, वे भी होंगे रद। रीट परीक्षा के चलते आम यात्री पांच दिन रोडवेज की सामान्य बसों में यात्रा नहीं कर पाएंगे। रोडवेज प्रशासन ने पांच दिन तक आम यात्रियों के आनलाइन टिकट बुक करवाने पर रोक लगा दी है।

इस संबंध में सोमवार को आदेश भी जारी कर दिए गए। जिसके अनुसार 24 से 28 सितम्बर तक के लिए आम यात्री साधारण, द्रुतगामी व सेमी डीलक्स बसों में आनलाइन टिकट बुक नहीं करवा सीट आरक्षित नहीं कर सकेंगे। जिन लोगों ने अभी टिकट बुक कर ली है, उन सभी के टिकट निरस्त किए जा रहे हैं। शुल्क की राशि लौटाने की व्यवस्था निगम की आईटी टीम कर देगी। अभ्यर्थियों की अधिक संख्या को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। आनलाइन टिकट व्यवस्था बंद होने से रोडवेज को होने वाली अतिरिक्त हानि का आंकलन कर पुर्नभरण के लिए राज्य सरकार को भेजा जाएगा। वहीं आम यात्री केवल डीलक्स, एसी, स्लीपर और सुपर लग्जरी बसों में यथावत यात्रा कर पाएंगे। इनके लिए सीट भी आरक्षित की जा सकती है। दरअसल, इन बसों में अभ्यर्थियों को निःशुल्क यात्रा की सुविधा देय नहीं है। इन बसों का उपयोग अभ्यर्थियों के परिवहन में नहीं किया जाएगा। हालांकि, रोडवेज के पास डीलक्स श्रेणी की करीब दो सौ ही बसें हैं।

20 से 30 सितम्बर तक निःशुल्क यात्रा

रोडवेज की सामान्य बसों में अभ्यर्थी परीक्षा से पांच दिन पहले व पांच दिन बाद तक निःशुल्क यात्रा कर सकेंगे। 20 सितम्बर से 30 सितम्बर की रात 12 बजे तक रीट परीक्षा का प्रवेश पत्र दिखाकर निःशुल्क यात्रा की जा सकती है। रोडवेज प्रशासन ने अभ्यर्थियों से अपील की है कि भीड़-भाड़ से बचने के लिए परीक्षा से तीन-चार पहले ही यात्रा करे। साथ ही आम यात्री अत्यावश्यक होने पर ही रोडवेज बसों से यात्रा करे।

परीक्षा केंद्र जांच ले, ऐनवक्त का न करे इंतजार

प्रदेश भर में आगामी 26 सितंबर को रीट परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थी निर्धारित तिथि से पूर्व सावधानी से अपने परीक्षा केंद्र का पता कर ले । परीक्षा केंद्र पहुंचने पर पता चले कि वहां आपका सेंटर है ही नहीं, वहां से 40 किमी दूर सेंटर हैं। परीक्षा से वंचित रहने को मजबूर होना पड़ सकता है। जानकारी के अनुसार बोर्ड ने जिस परीक्षार्थी को सीकर जिले के दातारामगढ़ में जो सेंटर आवंटित किया हैं, वह दांतारामगढ़ की जगह लोसल में हैं, जो दांतारामगढ़ से 40 किलोमीटर दूर है। बोर्ड द्वारा शेखावटी पब्लिक स्कूल, सीनियर सेकेंडरी स्कूल ब्लॉक दातारामगढ़, वार्ड 33, पुलिस स्टेशन के पीछे केंद्र संख्या (12 2029) के नाम से प्रवेश पत्र जारी किया है।

परीक्षार्थियों द्वारा जब इस सेंटर का पता किया तो पता चला कि उक्त सेंटर दातारामगढ़ में हैं ही नहीं । बोर्ड ने प्रवेश पत्र में जो सेंटर लिखा है वह दातारामगढ़ से 40 किमी दूर लोसल में है । इस संबंध में संबंधित सीबीईओ से जानकारी चाहने पर पता चला कि प्रवेश पत्र में दातारामगढ़ से पूर्व लोसल नहीं लिखे जाने से यह गफलत हुई हैं। रीट परीक्षार्थी अगर समय से पूर्व अपने सेंटर की जानकारी नहीं करते तो उन्हें हो सकता परीक्षा से भी वंचित रहना पड़ सकता हैं।

Edited By: Babita Kashyap

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट