जयपुर, [नरेन्द्र शर्मा] । राजस्थान से लगती हुई भारत-पाकिस्तान सीमा पर करीब 15 किमी. क्षेत्र में पाकिस्तान का जो क्षेत्र करीब एक से ड़ेढ़  वर्ष पूर्व तक सरसब्ज नजर आता था अब वह उजड़ रहा है । सीमा से सटे पाकिस्तान के इन क्षेत्रों में फसल पूरी तरह से खराब हो गई,पहले इस क्षेत्र में किसानों को बॉर्डर से खेत में काम करते हुए देखा जा सकता था,लेकिन अब किसान नहीं पाक रेंजर्स दिखाई देते है । इसका कारण है अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तारबंदी के साथ बहने वाली एच नहर का पक्का हो जाना ।

यह नहर विभाजन के पूर्व से   ही कच्ची थी,इस कारण पानी का रिसाव होने से पाकिस्तान के किसानों ने ट्यबवेल खोद लिए थी और इनके माध्यम से सिचांई कर रहे थे । अच्छी मात्रा में पानी मिलने से पाकिस्तान का यह क्षेत्र सरसब्ज हो गया , खेतों में अच्छी फसल होने लगी । वहीं हमारी नहर का पानी जाने से राजस्थान के किसान मायूस थे । यह सिलिसला लम्बे समय से चल रहा था । सिंचाई विभाग के अधिकारियों का कहना है कि हमारी नहर के कारण सीमा के साथ्-साथ पाक के किसानों ने ट्यृबवेल खोद लिए थे ।

इस कारण इनके खेतों में देश कपास, अमेरिकन कपास,गन्ना,गेंहू और  सरसों की खेती होने लगी थी । अब एच नहर पक्की होने से पानी का  रिसाव बंद हो गया,इस कारण सीमा से सटे पाक के कई खेत अब विरान हो गए । राज्य के सिंचाई मंत्री  डॉ.रामप्रताप का कहना है कि एच नहर को पक्का करने के बाद पानी का रिसाव बंद हो गया  ,इस कारण हमारे खतों की फसल अच्छी हो गई और अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे पाकिस्तान के खेत अब बंजर हो गए । 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस