जयपुर, जेएनएन। Open Jail In Rajasthan. राजस्थान की खुली जेलों में अब कैदियों की हाजिरी का सिस्टम ऑनलाइन किया जा रहा है। इसके लिए जेल विभाग ने हाजिर नाम से एक ऑनलाइन सिस्टम तैयार कराया है। जल्द ही इसे पूरे प्रदेश की खुली जेलों में लागू किया जाएगा।

राजस्थान में देश मे सबसे ज्यादा 36 खुली जेल हैं। इन जेलों में डेढ़ हजार से ज्यादा कैदी रह रहे हैं। खुली जेल एक ऐसी व्यवस्था है, जिसमें अच्छे चाल चलन वाले कैदियों को रखा जाता है और ये कैदी अपने परिवार के साथ यहां रह सकते हैं। वे दिन में अपने काम पर भी जा सकते हैं। बस उन्हें सुबह और शाम अपनी हाजिरी करानी होती है। अभी तक यह हाजिरी प्रचलित तरीके से रजिस्टर में ही की जाती है। इसमें कई तरह की गड़बड़ियां होती हैं। इन कैदियों को शाम छह बजे से पहले वापस लौटना होता है, लेकिन कैदी स्थानीय प्रहरियों के साथ मिलीभगत कर इसमें गड़बड़ी करते हैं।

अब इसी व्यवस्था को सुधारने के लिए ऑनलाइन व्यवस्था लागू की जा रही है। जेल विभाग के डीआइजी विकास कुमार ने बताया कि हमने इसके लिए “हाजिर“ नाम से एक साफ्टवेयर तैयार कराया है। इसमें खुली जेलों में रहने वाले सभी कैदियों का पूरा रिकाॅर्ड फोटो सहित अपलोड किया जा रहा है। हर रोज शाम को छह से सात बजे तक कैदियों की हाजरी होगी और संबंधित प्रहरी मोबाइल फोन या कैमरे के जरिए संबंधित कैदी की हाजिरी करेंगे। कैमरे में संबंधित कैदी का फोटो मिलान होने पर ही हाजिरी मानी जाएगी।

यह सिस्टम सभी उच्च स्तर से भी जुड़ा होगा और हर कैदी की हाजिरी रिपोर्ट तुरंत ही उच्च स्तर पर भी पहुंचेगी। ऐसे मे निचले स्तर पर किसी तरह की गड़बड़ी होने की संभावना नहीं के बराबर रहेगी। हाजिरी का समय निश्चित किया जाएगा और निश्चित समय बाद हाजिरी नहीं हो सकेगी। हमे हर कैदी का रीयल टाइम डाटा मिल सकेगा।

गौरतलब है कि राजस्थान की अन्य सभी जेलों को भी आपस में नेटवर्किंग को जोड़ दिया गया है। अब राजस्थान की सभी जेलों में रहने वाले कैदियों का पूरा डाटा विभाग के पास है। पहले रहे हुए कैदियों का रिकाॅर्ड भी डिजिटाइज कर दिया गया है। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस