जागरण संवाददाता, जयपुर। अलवर मॉब लिंचिंग (बेकाबू भीड़ की हिंसा) मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने राजस्थान सरकार से दो सप्ताह में जवाब मांगा है। आयोग ने इस मामले को लेकर मानवाधिकारों का हनन बताते हुए बृहस्पतिवार को राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है।

जानकारी के अनुसार, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का नोटिस मिलने के बाद राज्य के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता और गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव शैलेन्द्र अग्रवाल ने अधिकारियों के साथ बैठक की । 

मेव समाज ने भाजपा विधायक को मुल्जिम बनाने की मांग की

राजस्थान की मेव पंचायत ने अलवर मामले में भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा को मुल्जिम बनाने की मांग की है। मेव पंचायत ने आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा का बहिष्कार करने की चेतावनी देते हुए कहा कि हिंदू समाज के लोगों से भी भाजपा को वोट नहीं देने की अपील की जाएगी। मेव पंचायत के संरक्षक शेर मोहम्मद ने अलवर जिला कलेक्टर के माध्यम से केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को ज्ञापन भेजकर विधायक आहूजा को मुल्जिम बनाने की मांग की है। शेर मोहम्मद ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहा कि आहूजा गुंडागर्दी करने वालों को संरक्षण देते हैं। गोरक्षक के नाम पर आहूजा के गुंडे लोगों के साथ मारपीट करते हैं, पुलिस चाह कर भी उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकती है।

उन्होंने अकबर की मौत मामले के चश्मदीद गवाह बताए जा रहे विहिप कार्यकर्ता नवल किशोर शर्मा को भी आहूजा की टीम का सदस्य बताते हुए कहा कि इनका काम लोगों से पैसे एकत्रित करना है। अलवर के ललावंडी गांव में मारे गए कथित गोतस्कर अकबर की मौत के मामले में पुलिस को क्लीनचिट देते हुए शेर मोहम्मद ने कहा कि गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने विधायक आहूजा और आरएसएस के दबाव में पुलिस हिरासत में मौत की बात स्वीकारी है, जबकि अकबर की मौत तो विधायक के गुडों की पिटाई के कारण हुई है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव निकट आते देख आहूजा पिछले एक साल से अलवर जिले का माहौल खराब करने में जुटे है। वे हिंदू और मुस्लिम समाज को लड़ाना चाहते है, लेकिन दोनों समुदायों में अच्छा सौहार्द है।

दूध की आपूर्ति बंद करने की चेतावनी

शेर मोहम्मद ने कहा कि अलवर और हरियाणा के मेवात इलाके से दिल्ली एवं गुरुग्राम में दूध की आपूर्ति होती है, यदि राजस्थान सरकार ने अकबर की मौत के मामले की जांच सही ढंग से नहीं की तो दूध की आपूर्ति बंद कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी तक तो जांच हुई ही नहीं है।

यह है पोस्टमार्टम रिपोर्ट

मेडिकल बोर्ड की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि अकबर के शरीर की सभी चोट पोस्टमार्टम करने से 12 घंटे पहले की है। अकबर का पोस्टमार्टम अलवर के जिला अस्पताल में दोपहर में 12:44 पर हुआ, इस लिहाज से उसके शरीर में चोट एक दिन पहले रात 12 से 1 बजे के बीच की होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अकबर के शरीर में अंदरूनी चोट लगने के साथ ही हाथ और एक पैर में फ्रेक्चर होने की बात भी कही गई है। डॉ.संजय गुप्ता, राजीव गुप्ता और अमित मित्तल ने पोस्टमार्टम किया था।

Posted By: Sachin Mishra