चित्तौड़गढ़, संवाद सूत्र। राजस्थान में अलवर में मूकबधिर नाबालिग से सामहिक दुष्कर्म की घटना का मामला पहले से ही चर्चा में है। अब चित्तौड़गढ़ में एक मूकबधिर विवाहिता से सामूहिक दुष्कर्म की एक और घटना सामने आई है। पीड़िता की तबीयत खराब होने पर जब भीलवाड़ा में रह रहे उसके पिता उसे अस्पताल ले गए, तब पता चला कि वह गर्भवती है। उसने डाक्टर को इशारे से बताया कि उसके साथ दो युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसकी सूचना चिकित्सक ने पुलिस और प्रशासन को दी। इसके बाद जिला कलेक्टर आशीष मोदी और पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू अस्पताल पहुंचे। दोनों अधिकारियों की मौजूदगी में एक्सपर्ट को बुलाया और पीड़िता से बातचीत करने की कोशिश की गई।

पीहर में रह रही थी पीड़िता

पीड़िता ने डाक्टरों को इशारों में बताया कि चित्तौड़गढ़ में दो लड़कों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था। बताया गया कि पीड़िता के पिता की भीलवाड़ा में चाय की थड़ी है। सोमवार को उनकी बेटी की तबीयत अचानक खराब हुई तो वह उसे दिखाने अस्पताल लेकर पहुंचे तो वहां जानकर उनके पैरों तले जमीन ही खिसक गई। पिता ने बताया कि पांच साल उन्होंने अपनी बेटी की शादी की थी, लेकिन कई साल से उनकी बेटी पीहर ही रह रही थी। पांच दिन पहले ही अपने पिता के पास भीलवाड़ा आई थी।

दो बाइक सवारों ने किया था सामूहिक दुष्कर्म, धरपकड़ के लिए दो जिलों की पुलिस जुटी

पीड़िता ने डाक्टरों को इशारों में बताया कि तीन महीने पहले चित्तौड़गढ़ में उसके साथ बाइक सवार दो युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। उपचार कर रहे डाक्टरों की टीम ने बताया कि पीड़िता का गर्भ गिर गया है और तबीयत में पहले से सुधार है। पूरे मामले की जांच के लिए भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ पुलिस की जाइंट टीम बना दी गई है। मामले की जांच की जा रही है। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra