जयपुर, [जागरण संवाददाता]। भाषा साहित्य जगत का कुंभ कहे जाने वाले "जयपुर लिटरेचर फेस्टवल" में इस बार 35 देशों के 250 से अधिक लेखक,चिंतक,सिनेमा और साहित्य जगत के प्रमुख लोग अपनी बात रखेंगे। इनमें से अधिकांश लोग नोबेल पुरस्कार,मैन बुकर, पुलित्जर पुरस्कार ,पद्म विभूषण और साहित्य अकादमी जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानति होंगे।

जयपुर के डिग्गी पैलेस होटल में 25 से 29 जनवरी तक आयोजित होने वाले "जयपुर लिटचेर फेस्टिवल" (जेएलएफ ) में अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित,पूर्व केन्द्रीय मंत्री शशि थरूर,एडम निकोल्सन,एलेक्जेंद्र हैरिस,स्वपनदास गुप्ता,अनंद पद्मनाभन,शोभा डे,सी.राजा मोहन,वीर सांघवी,जाकिर हुसैन,शर्मिला टेगौर,अशोक वाजपेयी,मृदुला गर्ग,विशाल भारद्वाज,होमी भाभा,नंदिता दास,ब्रमा चेलानी,एंजेला सैनी,रालेफ सन,निकोलस इदियार,पीटर बोस,पूनम सूरी,विक्टर सेबेस्टियन,यतीन्द्र मिश्र,डांसर सोनल मानसिंह,सुधा मूर्ति सहित 250 साहित्यकार और रचनाकार अपनी बात रखेंगे।

जेएलएफ के आयोजकों के अनुसार पांच दिन के दौरान 15 भारतीय और 20 अंतरराष्ट्रीय भाषाओं में वक्ता अपनी बात रखेंगे । 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस