जयपुर, राज्य ब्यूरो। पिछले वर्ष तक राजस्थान के सरहदी जिलों तक ही सीमित रहा टिड्डी दल इस बार जयपुर तक पहुंच गया है। सोमवार सुबह टिड्डीयों का एक बडा झुंड जयपुर के परकोटा क्षेत्र में बड़ी चैपड़ और आस-पास के इलाकों जैसे मुरलीपुरा, जवाहर नगर और कई क्षेत्रों में देखा गया। टिड्डी दल के इस हमले को देख कर लोग अपने घरों में लगे पेड़ पौधों को बचाने की जुगत में लग गए। जयपुर शहर में आने से दो दिन पहले तक यह टिड्डी दल जयपुर के ग्रामीण क्षेत्र में कहर बरपा चुका है।

राजस्थान में पिछले वर्ष टिड्डी दलों ने नवम्बर में हमला किया था, लेकिन जैसलमेर, बाडमेर, जोधपुर जैसे सरहदी जिलों तक ही सीमित था, लेकिन इस बार टिड्डी दल सरहदी जिलों से आगे बढ़ कर नागौर, अजमेर, भीलवाडा होता हुआ जयपुर तक आ पहुंचा है। जयपुर के आसपास के इलाकों में पिछले तीन चार दिन से टिड्डी दल देखा जा रहा है जो सोमवार सुबह जयपुर शहर में पहुंचा।

जयपुर के कर्फ्यूग्रस्त इलाके के जौहरी बाजार, बड़ी चैपड़ के अलावा बाहरी इलाकों में मुरलीपुरा, विद्याधर नगर और जवाहर नगर तक में हजारों की संख्या में टिड्डीयां नजर आई। गौरतलब है कि इस बार संयुक्त राष्ट्र संघ ने भारत में पिछली बार के मुकाबले  टिड्डीयों के दो से ढाई गुना ज्यादा बड़े हमले की आशंका प्रकट की है और यह स्थिति नजर भी आ रही है। हालाकि सरकार इन पर नियंत्रण के दावे कर रही है, लेकिन इसके बाद भी  टिड्डी दल पाकिस्तानी सीमा से जयपुर तक आ पहुंचा है।

अधिकारियों का कहना है कि हवा के रूख के कारण इस बार टिड्डी दल इतना अंदर तक आ गया है। इस पर नियंत्रण के प्रयास किए जा रहे है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी अधिकारियों को इस पर नियंत्रण के लिए कार्रवाई करने को कहा है, वहीं इसे लेकर प्रधानमंत्री को पत्र भी लिखा है।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस