जयपुर, [जागरण संवाददाता]। देश-दुनिया में साहित्य के महाकुंभ के नाम से प्रसिद्ध पांच दिवसीय जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ( जेएलएफ ) गुरूवार से शुरू होगा। इस दौरान 35 देशों के 250 से अधिक साहित्यकार,लेखक,राजनेता और फिल्मी दुनिया से जुड़े लोग वक्ताओं के रूप में अपनी बात रखेंगे।

जेएलएफ के विभिन्न सत्रों मे अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई,पूर्व केन्द्रीय मंत्री शशि थरूर,दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित,फिल्म सेंसर बोर्ड के चेयरमैन प्रसून जोशी,शहीद मंदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर,फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप,इनटॉलरेंस के विरोध में अवार्ड वापसी की शुरूआत करने वाली नयनतारा सहगल,प्रसिद्ध तबला वादक जाकिर हुसैन,अभिनेत्री शबाना आजमी,अनुराग कश्यप,इंगलिश नॉवलिस्ट हेलेन  फिल्डिंग ,मैन बुकर विनर माइकल ओंदाजे,पुलिटत्जर पुरस्कार विजेता माइकल रेजेंदेस,मृदुला गर्ग,सुधा मुर्ति, सोनल मानिसंह,पी.के.अय्यर,नॉबेल पीस अवार्ड विजेता मोहम्मद युनूस सहित देश-विदेश के कई साहित्यकार इस साहित्य उत्सव में शामिल होंगे।

बांग्लादेश की विवादास्पद लेखिका तस्लीमा नसरीन के भी आने की सूचना है,लेकिन किसी विवाद से बचने के लिए आयोजक उनका नाम सार्वजनिक नहीं कर रहे। आयोजकों के अनुसार जेएलएफ में 15 भारतीय और 20 अंतरराष्ट्रीय भाषाओं में विभिन्न सत्र होंगे । 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस