जागरण संवाददाता, जयपुर। religious places. राजस्थान में ग्रामीण क्षेत्रों के ऐसे धार्मिक स्थल जिनमें कम संख्या में लोग आते हैं, वे एक जुलाई से खोले जाएंगे। शहरों के धार्मिक स्थल फिलहाल नहीं खोले जाएंगे। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों जिन धार्मिक स्थलों में बड़ी संख्या में भीड़ आती है, वे भी फिलहाल आम लोगों के लिए बंद रहेंगे।

इसके साथ ही राज्य सरकार ने तय किया है कि देश के अन्य राज्यों से राजस्थान आने वाले लोगों के क्वारंटीन की अनिवार्यता भी अब खत्म कर दी गई है। अब तक बाहर से आने वालों के लिए 14 दिन के क्वारंटीन की अनिवार्यता थी।

रविवार देर शाम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में कोरोना महामारी की समीक्षा बैठक में तय किया गया कि कोरोना को लेकर जागरूकता अभियान अब सात जुलाई तक चलाया जाएगा, पहले यह 30 जून तक ही चलाया जाना था। गहलोत ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में जो धार्मिक स्थल खोले जाएंगे, उनमें नियमित रूप से सैनिटाइजेशन करना अनिवार्य होगा। 

राजस्थान में रविवार को कोरोना के 327 पीड़ित मिलने के साथ ही 8 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक 399 लोगों की मौत होने के साथ ही 17,271 संक्रमित मिले हैं। वहीं, 3261 एक्टिव केस हैं।

चिकित्सा विभाग के अनुसार, प्रदेश में सबसे अधिक 3261 केस जयपुर में मिले हैं। अजमेर में 500, अलवर में 503, बांसवाड़ा में 99,बांरा में 65, बाड़मेर में 288, भरतपुर में 1540, भीलवाड़ा में 250, बीकानेर में 289, बूंदी में 14, चित्तौड़गढ़ में 210, चूरू में 303, दौसा में 134, धौलपुर में 605, डूंगरपुर में 431, श्रीगंगानगर में 53, हनुमानगढ़ में 63, जैसलमेर में 108, जालौर में 282, झालावाड़ में 375, झुंझुनूं में 356, जोधपुर में 2684, करौली में 96, कोटा में 640, नागोर में 618, पाली में 1081, प्रतापगढ़ में 16, राजसमंद में 214, राजसमंद में 234, सवाईमाधोपुर में 95, सीकर में 512, सिरोही में 460, टोंक में 200 व उदयपुर में 285 पॉजिटिव अब तक मिले हैं। दिल्ली से जोधपुर लाए गए बीएसएफ के 50 जवान व ईरान से एयरलिफ्ट कर लाए गए 61 लोग पॉजिटिव मिले थे, जब अब स्वस्थ हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस