जागरण संवाददाता, जयपुर। खुद को कैंसर पीड़ित विधवा महिला बताकर एक शातिर ठग ने राजस्थान में सवाई माधाेपुर की एक महिला से फेसबुक पर दोस्ती कर ली। शातिर ठग पुरुष था, लेकिन उसने फेसबुक आइडी महिला के नाम से बना रखी थी। उसने चैटिंग के जरिए सवाईमाधोपुर निवासी गुंजन शर्मा से करीब ढ़ाई करोड़ की ठगी कर ली। ठग ने खुद की 28 करोड़ की संपत्ति बताते हुए कहा कि नकद रकम नहीं है। कोरोना काल में संपत्ति का सौदा नहीं हो रहा और इलाज के लिए पैसों की जरूरत है। ठग ने गुंजन को विश्वास में लेकर कहा कि वह अपनी संपत्ति उसके नाम कर देगा, लेकिन अभी इलाज के लिए ढ़ाई करोड़ दे दे। इस पर गुंजन ने यह रकम 55 बैंक खातों में ट्रांसफर करवाई। गुंजन को ठग के बारे में पता चला तो उसने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई।

जांच में मामला सही पाया गया। एसओजी के डीआइजी शरत कविराज ने बताया कि आरोपित ठग नीरज सूरी को गिरफ्तार कर लिया गया है। नीरज उत्तराखंड के देहरादून की शिव विहार कॉलोनी में रहता है। उसने फेसबुक पर रेबिका क्रिसचियन के नाम से आइडी बना रखी थी। फेसबुक पर उसकी गुंजन से दोस्ती हुई और खुद को कैंसर पीड़ित बताते हुए कहा कि पति की मौत हो गई है। संपत्ति तो है, लेकिन नकद रकम नहीं होने से इलाज में परेशानी हो रही है। ठग ने गुंजन को विश्वास दिलाया कि वह अपनी संपत्ति उसके नाम कर देगा। उसने एक फर्जी इमेल गुंजन को इस संबंध में भेजी, जिसमें वकील के माध्यम से संपत्ति का वारिस बनाने की प्रक्रिया शुरू करने की बात कही गई। पैसे लेने के बाद उसने गुंंजन से बात करना बंद कर दिया। काफी तलाशी के बाद उसके फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। गुंजल द्वारा दर्ज करवाई गई रिपोर्ट के आधार पर एसओजी के उप अधीक्षक उमेश निठारवाल की अगुवाई में टीम बनाई गई। टीम ने ठग को रविवार को गिरफ्तार किया। उसने सीए का फर्जी कार्ड भी बनवा रखा है। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra