जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान के अलवर में यौन शोषण के आरोपी कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य उर्फ फलाहारी बाबा के अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश संख्या-1 राजेंद्र शर्मा की अदालत में बयान दर्ज किए गए। इस दौरान फलहारी बाबा से कोर्ट ने 88 सवाल किए, जवाब में फलहारी बाबा ने अपने आप को निर्दोष बताया।

अपर लोक अभियोजक योगेंद्र सिंह खटाना ने बताया कि बुधवार को अदालत ने अभियोजन पक्ष की ओर से दर्ज करवाए गए 30 अभियोजन साक्ष्यों की गवाही के आधार पर आरोपी के बयान दर्ज किए। कोर्ट ने लिखित रूप में 24 पेजों में तैयार किए गए 88 सवालों के जवाब आरोपी फलाहारी बाबा से मांगे। इस दौरान आरोपी फलाहारी बाबा ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को झूठा बताते हुए कहा कि वह निर्दोष है।

अदालत की ओर से बचाव पक्ष को गवाह पेश करने का मौका देते हुए 31 अगस्त की तारीख निर्धारित की गई है । आरोपित के अधिवक्ता अशोक शर्मा ने बताया कि फलाहारी बाबा की ओर से लिखित में सभी सवालों के जवाब अदालत में प्रस्तुत किए गए हैं। साथ ही बचाव पक्ष की ओर से 14 गवाहों को पेश किए जाने का आवेदन अदालत में पेश किया गया। इसके लिए गवाहों की सूची अदालत में पेश की गई। उल्लेखनीय है कि इस मामले में 9 मार्च, 2018 को पीड़िता के बयान दर्ज हुए थे और इसके बाद जिरह हुई थी।  

Posted By: Preeti jha