जयपुर, जागरण संवाददाता। ''मैं मुख्यमंत्री तो नहीं हूं, लेकिन मुख्यमंत्री से कम भी नहीं हूं'', यह कहना है कांग्रेस विधायक नरेन्द्र बुडानिया का। तारानागर सीट से निर्वाचित हुए बुडानिया के इस बयान को जीत का गुरुर कहें या मंत्री ना बनने की टीस, उन्होंने अब सार्वजनिक मंच से अपने आपको सीएम के बराबर बताने से भी नहीं चूक रहे है।

बुडानिया ने तारानगर में एक कार्यक्रम में कहा कि जिन मुद्दों पर चुनाव लड़ा वो मंत्री नहीं बनने से कमजोर नहीं हुए है। बुड़ानिया ने कहा कि उनमें कोई कमजोरी नहीं है। उनके दिमाग में कहीं यह भी नहीं है वे मंत्री नहीं बने तो कमजोर हो गए। लेकिन वे इतना विश्वास दिलाना चाहते है कि वे मुख्यमंत्री तो नहीं है, लेकिन मुख्यमंत्री कम भी नहीं हैं।

उल्लेखनीय है कि चूरू लोकसभा क्षेत्र से सांसद और राज्यसभा सांसद भी रह चुके है। शेखावाटी क्षेत्र के वरिष्ठ जाट नेता माने जाते है,लेकिन इस बार विधानसभा में पहुंचने के बाद भी उन्हे मंत्री नहीं बनाया गया।  

Edited By: Preeti jha