जागरण संवाददाता, जयपुर। Maharashtra Congress MLA. महाराष्ट्र से राजस्थान लाए गए कांग्रेस विधायक अभी यहीं रहेंगे। महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने तक इन्हें राजस्थान में ही रखा जाएगा। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रहे महासंग्राम के बीच कांग्रेस के 44 में से 33 विधायकों को शुक्रवार शाम राजस्थान लाया गया था। इनमें से 11 विधायक को जयपुर में दिल्ली रोड़ स्थित एक रिसोर्ट और 22 विधायकों जोधपुर के रेडिशन होटल में रखा गया था। शनिवार की शाम को जोधपुर से 22 विधायक जयपुर पहुंच गए। ये विधायक भी अब दिल्ली रोड स्थित ब्यूना विस्ता रिसोर्ट में रखा गया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे और वरिष्ठ नेता राजीव सातव महाराष्ट्र के विधायकों के साथ यहीं रहेंगे। पांडे शनिवार सुबह कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली गए थे, लेकिन शाम को वापस लौट आए बताए। जयपुर के रिसोर्ट में ठहरे विधायकों ने शनिवार को दिन में राजस्थानी भोजन और लोक कलाकारों के नृत्य का आनंद लिया। कुछ विधायक शहर के एक सिनेमाघर में फिल्म देखने गए। राज्य सरकार के चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा और सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी उनके साथ रहे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा विधायकों की खरीद-फरोख्त में जुटी थी, इस वजह से यहां लाया गया है। विधायकों को लालच दिया जा रहा था। धमकाया जा रहा था। शिवसेना ने भी अपने विधायकों को होटल में शिफ्ट किया है। उन्होंने कहा कि गोवा और मणिपुर में कांग्रेस को बहुमत मिला था, लेकिन भाजपा ने तोड़फोड़ करके सरकार बना ली। कर्नाटक के जो भी हुआ वह सबके सामने है। गहलोत शुक्रवार रात करीब चार घंटे तक महाराष्ट्र कांग्रेस विधायकों के साथ रहे थे। उन्होंने यहां अविनाश पांडे के साथ भी अलग से चर्चा की। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप