जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में अलवर के जिला प्रमुख और कांग्रेस नेता बलवीर छिल्लर ने अपनी ही सरकार में श्रम मंत्री टीकाराम जूली को छोटी मानसिकता वाला व्यक्ति बताते हुए कहा कि उसे दूर करूंगा, मेरे पैर में जूता है। दरअसल, बुधवार को जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान छिल्लर को मंच पर बैठने का स्थान नहीं मिला था। इससे नाराज होकर वह समारोह के बीच में ही चले गए। गुरुवार को जिला प्रमुख ने कहा कि मंत्री ने जान-बूझकर प्रशासन के जरिए मुझे नीचा दिखाने का प्रयास किया गया है। उनके मुताबिक, समारोह में बुलाकर भी कुर्सी नहीं दी गई, जबकि आगे की कुर्सियों पर मंत्री, जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक अपने स्वजनों के साथ बैठे थे। उन्होंने कहा कि आगे ही नहीं बल्कि पीछे की पंक्ति में भी कुर्सी नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि जान-बूझकर जिला प्रमुख पद की गरिमा को ठेस पहुंचाई गई है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि मैं निर्वाचित जनप्रतिनिधि हूं। छिल्लर ने कहा कि मेरे चुनाव में भी क्रास वोटिंग करवाने की कोशिश की गई। उन्होंने मंत्री का नाम लिए बिना कहा कि कुछ लोग छोटी मानसिकता वाले हैं। इनकी छोटी मानसिकता खत्म करना जरूरी हो गया है। मेरे पैर में जूता है।

मंत्री ने कही ये बात

जिला प्रमुख की नाराजगी सार्वजनिक होने के बाद मंत्री जूली ने कहा कि मुझे कहते तो मैं आगे बुला लेता। इस पर छिल्लर ने कहा कि मुझे फोटो खिंचवाने का चाव नहीं है। उल्लेखनीय है कि अलवर में कांग्रेस कई गुटों में बंटी हुई है। जिला प्रमुख के चुनाव में जूली समर्थकों ने कांग्रेस उम्मीदवार छिल्लर का ही खुलकर विरोध किया था। इसके बाद से दोनों के बीच मतभेद सार्वजनिक हो गए हैं। कांग्रेस की विधायक और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव जुबेर खान की पत्नी साफिया भी कई बार मंत्री के खिलाफ बयानबाजी कर चुकी हैं। आने वाले दिनों में यह मामला और गरमाने के आसार हैं।

Edited By: Sachin Kumar Mishra