जयपुर, [जागरण संवाददाता]। राजस्थान की दो संसदीय सीटों एवं एक विधानसभा सीट पर होने वाले उप चुनाव को लेकर कांग्रेस ने चुनाव प्रचार अभियान प्रारम्भ कर दिया। भाजपा एक माह पूर्व ही चुनाव अभियान शुरू कर चुकी है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित भाजपा के अधिकांश बड़े नेता दोनों संसदीय क्षेत्रों एवं एक विधानसभा क्षेत्र में चार से छह दिन तक के दौरे कर चुके हैं।

चुनाव प्रचार अभियान प्रारम्भ करने में भाजपा से पिछे रही कांग्रेस ने दोनों संसदीय क्षेत्रों में आठ से दस वरिष्ठ नेताओं को प्रचार अभियान की कमान सौंपी है। इसके साथ ही एक विधानसभा सीट के लिए पांच नेताओं की टीम तैयार की है। हालांकि चुनाव आयोग ने अभी तक तीनों उप चुनाव की तारीख घोषित नहीं की,लेकिन कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों ने चुनाव प्रचार अभियान शुरू कर दिया। पूर्व केन्द्रीय मंत्री सांवरलाल जाट के निधन के कारण रिक्त हुई अजमेर संसदीय सीट,सांसद महंत चांदनाथ के निधन की वजह से खाली हुई अलवर संसदीय सीट एवं विधायक कीर्ति कुमारी के देहांत के कारण रिक्त हुई मांडलगढ़ विधानसभा चुनाव को दोनों ही दल अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल मानकर चुनावी रणनीति बनाने में जुटे हैं।

कांग्रेस ने गुरूवार को अजमेर संसदीय क्षेत्र में " मेरा बूथ,मेरा गौरव "सम्मेलन का आयोजन किया । इस सम्मेलन में पार्टी के ब्लॉक स्तर तक के पदाधिकारियों को बुलाया गया । इस सम्मेलन में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी अवनाश पांडे,प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव जुबेर खान सहित कई नेताओं ने संबोधित किया। इस दौरान ब्लॉक और विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव अभियान के लिए नियुक्त किए गए प्रभारियों के साथ पायलट एवं पांडे ने अलग-अलग संवाद कर नीचले स्तर तक का फीड़बैक लिया । इससे पहले बुधवार को अलवर संसदीय क्षेत्र का सम्मेलन आयोजित  किया गया था । इस सम्मेलन में पदाधिकारियों एवं प्रभारियों की सक्रियता परखने के लिए प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने सभी को एक साथ खड़ा कर गिनती की  थी ।

उल्लेखनीय है कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के कारण इन तीनों उप चुनावों को अहम मानते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अलवर एवं अजमेर में चार से छह दिन तक दौरे कर पार्टी कार्यकर्ताओं के  साथ सीधा संवाद करने के साथ ही विभिन्न समाजों के प्रमुख लोगों से भी मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने मांडलगढ़ विधानसभा क्षेत्र का भी दो दिन का दौरा किया । भाजपा ने सरकार के दोनों संसदीय क्षेत्रो में  8 से 10 मंत्रियों को चुनाव अभियान की जिम्मेदारी सौंपी  है। मांडलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 5 मंत्रियों को तैनात किया गया है । पार्टी पदाधिकारियों को भी इनके सहयोग के लिए नियुक्त  किया गया है । 

 

By Preeti jha