जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में अलवर शहर के एक सरकारी स्कूल में मैला ढोने वाले परिवारों के 80 बच्चों को प्रवेश नहीं देने के मामले में प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया गया है। मामला सामने आने के बाद शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने जिला शिक्षा अधिकारी रमेश चौधरी को पूरे प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है ।

दरअसल,सोमवार को प्रदेश के सरकारी स्कूलों में नया शिक्षा सत्र प्रारंभ हुआ है । मंगलवार को अलवर के राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल रेलवे स्टेशन में प्रवेश लेने के लिए मैला ढोने वाले करीब पांच दर्जन परिवारों के 80 बच्चे शिक्षकों के पास पहुंचे। इस पर प्रधानाध्यापक तुलाराम गुप्ता ने इन बच्चों को डांट कर भगा दिया और भविष्य में स्कूल नहीं आने की हिदायत भी दी। स्कूल में बच्चों को प्रवेश नहीं मिलने की जानकारी सामाजिक संगठन आप साथ दो सेवा समिति को मिली तो शिक्षामंत्री तक मामला पहुंचा। इस बच्चों के लिए अलवर के एक भामाशाह ने यूनिफॉर्म और जूतों की व्यवस्था की थी।

जानकारी के अनुसार शिक्षामंत्री ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को स्कूलों में नामाकंन बढ़ाने के साथ ही सभी को प्रवेश देने के निर्देश दिए है।  

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस