जयपुर,  नरेन्द्र शर्मा। राजस्थान की राजनीति के केन्द्र में अब अचानक "लाभार्थी "आ गए है। केन्द्र और राजस्थान सरकार की एक दर्जन योजनाओं के "लाभार्थियों "के माध्यम से भाजपा विधानसभा चुनाव की वैतरणी पार करना चाहती है।

तीन दिन पहले जयपुर में हुई पीएम नरेन्द्र मोदी की सभा से उत्साहित बीजेपी "लाभार्थियो"के माध्यम से सरकारी योजनाओं और भाजपा की माउथ पब्लिसिटी कराना चाहती है । भाजपा के जिला अध्यक्ष और विधायक पीएम मोदी की सभा में शामिल हुए लाभार्थियों के निरंतर सम्पर्क में रहेंगे ।

लाभार्थियों के माध्यम से आम मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में मतदान के लिए प्रेरित करने की योजना बनाई जा रही है । जयपुर में पीएम नरेन्द्र मोदी के लाभार्थी संवाद कार्यक्रम से उत्साहित भाजपा में नए जोश का संचार हुआ है । उपचुनावों में मिली हार के बाद पहली बार प्रदेश भाजपा को करीब 5 माह बाद होने वाले विधानसभा चुनावों में जीत नजर आने लगी है ।

यही कारण है की बड़े स्तर पर हुए पीएम मोदी के "लाभार्थी "संवाद कार्यक्रम को भाजपा भुनाने की कोशिश में है । सरकारी आंकड़ों के अनुसार राज्य में केन्द्र और राज्य सरकार की अलग अलग योजनाओं के करीब दो करोड़ लाभार्थी है । यही कारण है की अब भाजपा सभी लाभार्थियों से संपर्क साधना चाहती है और संवाद कार्यक्रमों के जरिये वोट बैंक तैयार करना चाहती है ।  

Posted By: Preeti jha