जयपुर, [जागरण संवाददाता]। राजस्थान के कुख्यात गैंग्स्टर आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर के बाद राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह ने गुरूवार को अजमेर यात्रा के दौरान बातचीत में कहा कि यदि आनंदपाल का एनकाउंटर सही है तो परिजनों की शिकायत पर सीबीआई जांच से राजस्थान सरकार क्यों घबरा रही है।

उन्होंने कहा कि एनकाउंटर मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। उन्होंने केन्द्र की मोदी सरकार पर कई आरोप भी लगाए। दिग्विजय सिंह ने यहां ख्वाजा साहब की दरगाह में मखमली चादर और अकीदत के फूल पेश किए।

इधर आनंदपाल का गुरूवार को 13वें दिन भी अंतिम संस्कार नहीं हो सका। आनंदपाल का शव उसके पैतृक गांव सांवराद में ही डी-फ्रीज में रखा हुआ है। राजपूत समाज गांव में ही एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग को लेकर धरना दे रहा है। वहीं आनंदपाल की पत्नी,बेटी और मां गुरूवार सुबह अपने वकील के साथ चूरू पुलिस अधीक्षक से मिलने पहुंची। उन्होंने एनकाउंटर फर्जी बताते हुए सीबीआई जांच की मांग दोहराई। वकील कानसिंह राठौड़ का कहना है कि हमने पुलिस अधीक्षक को परिवाद दिया है जिसमें एनकाउंटर फर्जी बताते हुए एसओजी के आईजी दिनेश एम.एन सहित 29 लोगों के खिलाफ फर्जी एनकाउंटर का आरोप लगाया गया है। राठौड़ ने कहा कि यदि पुलिस सुनवाई नहीं करेगी तो फिर कोर्ट में जाएंगे। इधर राजपूत साधू कल्याण सिंह ने आनंदपाल सिंह का मंदिर बनाने की घोषणा की है। कल्याण सिंह का कहना है कि आनंपाल जिस दिन पहली बार पुलिस की पकड़ में आया उस दिन की अमावस्या की रात थी और जिस दिन उसका एनकाउंटर किया गया उस दिन भी अमावस्या की रात थी। 

 

 

यह भी पढ़ेंः अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भरतपुर से अयोध्या भेजा जा रहा सैंडस्टोन

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस