जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान के अलवर जिले में एक सरकारी स्कूल के प्रधानाध्यापक (प्रिंसिपल) और नौ शिक्षकों ने छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया है। दो शिक्षिकाओं ने छात्रा को डरा-धमका कर इनका सहयोग किया । शिक्षिकाओं ने दुष्कर्म का वीड़ियो भी बनाया है। पीड़िता कक्षा 10 की छात्रा है । स्कूल में पढ़ने वाली तीन अन्य छात्राओं के अभिभावकों ने शिक्षकों के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज कराया है। यह तीनों छात्राएं कक्षा 3,4 और 6 में पढ़ती है।

पहले भी दुष्कर्म कर चुके हैं शिक्षक

सामूहिक दुष्कर्म का मामला अलवर जिले के रायसरना राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल का है। मांढ़ण पुलिस थाना अधिकारी मुकेश यादव ने बताया कि पीड़ित छात्रा के पिता ने पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए लिखा कि वह ट्रक चालक है। उसकी पत्नी बोल व सुन नहीं सकती और बेटी 10वीं कक्षा में पढ़ती है। पिछले दिनों वह ट्रक चलाकर कुछ दिनों बाद घर आया तो पता चला कि बेटी कई दिनों से स्कूल नहीं जा रही है। पिता ने बेटी से स्कूल जाने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया और रोने लगी ।

पूछने पर उसने शिक्षकों द्वारा दुष्कर्म करने और वीडियो बनाने की बात बताई। पीड़िता ने पिता को बताया कि शिक्षक पिछले एक साल से दुष्कर्म कर रहे थे। पिछले सप्ताह प्रधानाध्यापक जितेंद्र कुमार,शिक्षक राजकुमार और प्रमोद ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया । दो शिक्षिका मनीषा यादव और अनिता कुमारी उसे शिक्षक सुरेश मीणा के कमरे में पढ़ाई कराने के बहाने से ले गई थी,जहां तीनों ने सामूहिक रूप से दुष्कर्म किया । दो शिक्षिकाओं ने पीड़िता से कहा तुम गरीब हो तुम्हारी स्कूल की फीस,यूनिफॉर्म और किताबें हम दे देंगे,लेकिन तुमकों शिक्षकों को खुश करना होगा । दोनों शिक्षिकाओं ने जबरन उसके कपड़े उतार दिए और फिर प्रधानाध्यापक व दो शिक्षकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया ।

पीड़िता का आरोप है कि शिक्षकों ने घटना को अंजाम देते समय शराब पी रखी थी।इससे पहले एक साल के दौरान सुरेश,राजीव कुमार,सतीश और मनीष सहित दो अन्य शिक्षकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया था । पढ़ाई के कारण उसने मुंह नहीं खोला । लेकिन जब पिछले दिनों प्रधानाध्यापक सहित तीन शिक्षकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया तो उसने स्कूल जाना छोड़ दिया । इस मामले में शिक्षामंत्री डॉ.बी.डी.कल्ला से बात करने का प्रयास किया गया,लेकिन वह उपलब्ध नहीं हो सके।

पुलिस उप अधीक्षक मौके पर

बुधवार सुबह पुलिस उप अधीक्षक मदन लाल और ब्लॉक शिक्षा अधिकारी सरिता यादव मौके पर पहुंची । उप अधीक्षक ने बताया कि पॉक्सो एक्ट के तहत मामले की जांच शुरू कर दी गई है। वहीं यादव ने कहा कि रिपोर्ट तैयार कर के शिक्षामंत्री को भेजी जाएगी । उल्लेखनीय है कि इसी स्कूल की एक छात्रा ने पिछले साल एक अन्य शिक्षक पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था ।

भाजपा ने सरकार को घेरा

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने एक बयान में कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था पटरी से उतर चुकी है। मुख्यमंत्री को बहन,बेटियों को सुरक्षित वातावरण देने के लिए प्रयास करने चाहिए । दुष्कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए । भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री अलका सिंह गुर्जर ने जयपुर में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा महिला उत्पीड़न में राजस्थान देश में पहले नम्बर पर आ गया है। राज्य सरकार महिलाओं को सुरक्षा देने में नाकाम साबित हो रही है।

Edited By: Vijay Kumar