नरेन्द्र शर्मा, जयपुर। दिल्ली एम्स में मौत से जूझ रही दो साल की बच्ची फलक मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राजस्थान एवं दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट मांगी है। गृह मंत्रालय इस मामले को मानव तस्करी मान रहा है। इसी के तहत राजस्थान पुलिस से रिपोर्ट मांगी गई है।

इधर जयपुर में मौजूद राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने इस मामले में संबंधित पक्षों से रिपोर्ट मांगी है। राजस्थान पुलिस को इस बात की भी जानकारी मिली है कि दिल्ली एवं हरियाणा से सटी राजस्थान के क्षेत्रों में महिलाओं की तस्करी होती है, इस क्षेत्र में महिलाओं की खरीद-फरोख्त के काम में कुछ गिरोह सक्रिय है। राजस्थान पुलिस इस मामले में आगे जांच कर रही है।

फलक की मां मुन्नी देवी को दिल्ली पुलिस ने झुंझुनूं जिले में बगड़ थाना क्षेत्र के भदूंका से गिरफ्तार किया था। मुन्नी ने हरपाल [24] से शादी कर ली थी। दिल्ली पुलिस की टीम ने 4 फरवरी को यहां आई थी एवं रविवार रात दोनों को ले गई। कार्रवाई इस कदर गोपनीय रही की स्थानीय पुलिस को सोमवार रात तक इसकी भनक नहीं लगी।

उधर, दिल्ली पुलिस ने भी फलक की मां को पकड़ने की बात कही है। पुलिस ने बताया कि मुन्नी का पति उसे वेश्यावृत्तिको मजबूर कर रहा था। इस कारण मुन्नी नवंबर में फलक को लेकर एक अन्य महिला लक्ष्मी के साथ दिल्ली गई थी। उसने फलक को लक्ष्मी के यहां छोड़कर हरपाल से शादी कर ली। बाद में बच्ची राजकुमार के साथ पाई गई, जो मुख्य अभियुक्त है।

आरोप है कि राजकुमार पत्नी एवं बेटे को छोड़ 14 साल की एक लड़की के साथ भाग गया, जो फलक को लेकर 18 जनवरी को एम्स पहुंची। जानकारी के मुताबिक मुन्नी मूलत: बिहार की है। उसकी शादी शाह हुसैन से हुई थी। पति की आदतों से परेशान मुन्नी घर से भाग गई एवं दिल्ली में लक्ष्मी के यहां काम करने लगी। लक्ष्मी व कांता ने मिलकर उसे 2.70 लाख में बेच दिया था।

मुन्नी के तीन बच्चों में फलक सबसे बड़ी है। भड़ौदा के एक व्यक्ति ने दिल्ली की दो महिलाओं से मुन्नी को खरीदा था। इसके बाद मुन्नी का यहां हरपाल से शादी रचाकर लाया गया। दिल्ली से सादा वर्दी में आई पुलिस टीम भड़ौंदा कलां के हरपाल एवं मुन्नी को अपने साथ ले गई। हरपाल खेती-बाड़ी करता था। उसकी उम्र करीब 25 साल हो गई, लेकिन शादी नहीं हुई। परिवार के अमर सिंह ने दो महीने पहले उसकी शादी कराई। इसकी एवज में 2.70 लाख रुपए चुकाए गए बताए। गांव में बताया गया कि हरपाल की रोहतक में मुन्नी के साथ शादी करके लाए हैं।

इस मामले में अब तक पांच लोगों मुन्नी, संदीव एवं उसकी पत्नी पूजा, आरती एवं जितेंद्र कुमार गुप्ता को गिरफ्तार किया जा चुका है। फलक मामले में दिल्ली पुलिस ने जयपुर जिले के कोटपूतली से जिला महिला कांग्रेस में पूर्व पदाधिकारी कांता चौधरी को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस उसे दिल्ली ले गई। दिल्ली पुलिस पहले भी चोरी के वाहन खरीदने-बेचने के आरोप में उसे गिरफ्तार कर चुकी है। कोटपूतली थाने में भी उसके खिलाफ कई मामले दर्ज है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट