उदयपुर, संवाद सूत्र। राजस्थान में उदयपुर जिले में एक दिन में कोरोना के 735 मरीज सामने आए हैं। जबकि 3320 लोगों की सैंपलिंग की गई। इस तरह जिले में जांच कराने वाला हर चौथा व्यक्ति कोरोना संक्रमित है। इस बीच, शुक्रवार को उदयपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित 85 वर्षीय महिला ने दम तोड़ दिया। इस साल कोरोना से यह पहली मौत है। उदयपुर में शुक्रवार को इतने कोरोना पाजिटिव आए कि पाजिटिविटी रेट 22.13 प्रतिशत पर पहुंच गया। शुक्रवार को उदयपुर में 735 कोरोना के मामले सामने आए। साथ ही, एक मौत भी हुई। दिसंबर के अंतिम सप्ताह में ओमिक्रोन से उदयपुर में एक मौत दर्ज की गई थी। मगर चिकित्सा विभाग ने उसे कोरोना से मौत में शामिल नहीं किया। ऐसे में अगर चिकित्सा विभाग की माने ताे उदयपुर में कोरोना से जुलाई के बाद पहली मौत हुई है। शुक्रवार को सामने आए 735 रोगियों में से 587 रोगी शहर से तो वहीं 148 ग्रामीण रोगी सामने आए।

2794 सक्रिय मरीज

शुक्रवार को चिकित्सा विभाग ने 3320 सैम्पल की टेस्टिंग की। जिसमें से 735 रोगी पाजिटिव आए। यह मई के बाद उदयपुर में एक दिन में सामने आए रोगियों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। वहीं, 86 कोरोना वारियर भी इसमें पाजिटिव आए हैं। उल्लेख्ननीय है कि उदयपुर में एक्टिव रोगियों की संख्या 2794 हो गई है। इनमें से 2735 रोगी होम आइसोलेशन में हैं। जबकि 59 रोगी अस्पताल में भर्ती हैं। उदयपुर के निजी अस्पताल पारस जेके अस्पताल में 85 वर्षीय महिला की मौत हो गई। जो डायबिटिज तथा अन्य रोग से भी ग्रसित थी।  

खाटू श्याम मंंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद
राजस्थान में बृहस्पतिवार को कोरोना के 9881 संक्रमित मिलने के साथ ही सात लोगों की मौत हुई है। सबसे ज्यादा 2,785 संक्रमित जयपुर जिले में मिले हैं। जयपुर और सीकर में दो-दो, बाड़मेर, झुंझुनूं और नागौर में एक-एक मौत हुई है। राज्य के सभी 33 जिले कोरोना महामारी की तीसरी लहर की चपेट में आ गए हैं। इतनी बड़ी संख्या में पाजिटिव केस और मौत करीब नौ माह बाद हुई है। दूसरी लहर में एक दिन में दस हजार तक संक्रमित मिले थे। इसी बीच, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 17 तारीख से शुरू होने वाली प्रायोगिक परीक्षाएं अगले आदेश तक टाल दी हैं। शिक्षा मंत्री डा. बीडी कल्ला ने बताया कि राज्य के 25 जिले रेड़ जोन में आने के कारण परीक्षाएं टाली गई हैं। सीकर जिले में स्थित खाटू श्याम मंंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया था।

Edited By: Sachin Kumar Mishra