जागरण संवाददाता, जयपुर : पाकिस्तान की एक महिला के पिछले कई सालों से पहचान छिपाकर जयपुर में रहने का मामला सामने आया है। पुलिस की इंटेलिजेंस विंग की जांच में सामने आया कि बचपन में माता-पिता के साथ जयपुर आई एक मुस्लिम महिला ने पुराने शहर में रहने वाले एक व्यक्ति से विवाह कर लिया। वह 15 साल से यहां रह रही है। इस मामले की राज्य सीआईडी, सीबी के पुलिस अधीक्षक शांतनु सिंह और रामगंज पुलिस थाने के सब इंसपेक्टर बने सिंह जांच कर रहे हैं।

माता-पिता के साथ वीजा लेकर भारत आई थी

प्रारम्भिक जांच में सामने आया कि पहचान छिपाकर रह रही 38 वर्षीय महिला का असली नाम मीना कुमारी है। वह पाकिस्तान की रहने वाली है। 1985 में वह अपने माता-पिता के साथ वीजा लेकर भारत आई थी। वह यहां माता-पिता के साथ लॉंग टर्म वीजा बनाकर रहने लगी।

राशन कार्ड और आधार कार्ड भी फर्जी बनवाए

बालिग होने पर उसने शहर के रामगंज इलाके में रहने वाले मोहम्मद कुरेशी के साथ विवाह कर लिया। उसने अपना नाम मीना कुमारी से बदलकर परवीन बानों रख लिया। इसके साथ ही परवीन बानों के नाम से राशन कार्ड और आधार कार्ड भी फर्जी तरीके से बनवा लिए।

धार्मिक और पर्यटन वीजा से भारत आ रहे लोग

पुलिस की जांच में सामने आया कि परवीन बानों उर्फ मीना कुमारी अपने पति के साथ रह रही थी। जानकारी के अनुसार पाकिस्तान सहित अन्य देशों से धार्मिक और पर्यटन वीजा से कई लोग भारत आ रहे हैं। यहां इन्हे वीजा में बताए गए स्थान पर रहना पड़ता है। लेकिन काफी लोग अपनी जगह बदल लेते हैं।

राजस्थान में 686 पाकिस्तानी नागरिक लापता है

इनमें से कई अपनी पहचान बदलकर रहते हैं। कुछ समय पहले ही केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर बताया कि राजस्थान में 686 पाकिस्तानी नागरिक लापता है। इन लापता लोगों की तलाश की जा रही है। इसी के तहत मीना कुमारी उर्फ परवीन बानों की पहचान हुई।

Edited By: Vijay Kumar