राज्य ब्यूरो, जयपुर। चीन के साथ लद्दाख सीमा पर टकराव के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि हम किसी पर आक्रमण नहीं करना चाहते, लेकिन कोई हमारी तरफ टेढ़ी आंख से देखेगा तो हम उसकी आंखें उखाड़ने का काम कर सकते हैं। यह जज्बा हमारे सैनिकों ने दिखाया है।

वर्चुअल रैली में गडकरी ने कहा- आतंकियों के समक्ष घुटने टेकती रही है कांग्रेस

उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि उसकी सरकारें देश में आतंकियों के समक्ष घुटने टेकती आई है। तुष्टिकरण की नीति के कारण ही कांग्रेस जम्मू-कश्मीर में अस्थाई तौर पर लागू अनुच्छेद 370 को हटा नहीं पाई थी। गडकरी मोदी सरकार-2 की पहली वर्षगांठ के मौके पर राजस्थान की जनसंवाद वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे थे।

गडकरी ने कहा- हम विस्तारवादी नहीं हैं, पड़ोसी देशों की एक इंच भी जमीन पर कब्जा नहीं किया

उन्होंने कहा कि हम विस्तारवादी नहीं हैं। हम किसी देश में घुसना नहीं चाहते। हमारे पड़ोस में नेपाल, भूटान, बांग्लादेश जैसे छोटे देश भी हैं, लेकिन इनकी एक इंच भी जमीन पर हमने कब्जा नहीं किया। हम अहिंसा और शांति चाहते हैं, लेकिन अहिंसा और शांति साम‌र्थ्यवान ही स्थापित कर सकता है और यह काम हमने कर दिखाया है।

कांग्रेस पर साधा निशाना

कश्मीर विवाद का जिक्र करते हुए गडकरी ने कांग्रेस पर भी हमला बोला और कहा कि देश के एकीकरण का पूरा काम लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल ने किया था। पं. जवाहरलाल नेहरू ने सिर्फ कश्मीर का काम अपने हाथ में रखा था। यह काम भी पटेल ने किया होता तो कश्मीर की समस्या पैदा नहीं होती।

आज भी कश्मीर को आतंकियों को घर बनाने की कोशिश की जा रही है

उन्होंने कहा कि अस्थाई रूप से लागू अनुच्छेद 370 को कांग्रेस अपने 55 साल के राज में सिर्फ तुष्टिकरण के चलते नहीं हटा पाई। आज भी कश्मीर को आतंकियों को घर बनाने की कोशिश की जा रही है। पाकिस्तान हमारे साथ छाया युद्ध कर रहा हैं। पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारें आतंकियों के सामने घुटने टेकती रहीं। कांग्रेस के नेता आतंकियों के घर जाकर सांत्वना देते रहे, लेकिन उन्हें शहीदों के घर जाने की फुर्सत नहीं थी।

देश की सीमाएं सुरक्षित हैं

जब हमारी सरकार आई तो हमने आतंकियों से कड़ी लड़ाई लड़ और आज न सिर्फ देश की सीमाएं सुरक्षित हैं, बल्कि आंतरिक तौर पर भी न कहीं दंगे और न बम धमाके हो रहे हैं। हमने कश्मीर को आतंक से मुक्त किया है और अब विकास के काम करवा रहे हैं। वहीं नक्सल प्रभावित इलाकों में भी हम विकास के काम कर रहे हैं। दो बार इन राज्यों की बैठक ली है और हर तरह की छूट देकर काम शुरू किया है। अब नक्सलवाद समाप्ति की ओर है।

जो काम कांग्रेस 55 साल में नहीं किया, वह हमने छह साल में किया- गडकरी

उन्होंने कहा कि जो काम कांग्रेस 55 साल में नहीं किया, वह हमने छह साल में किया है। छह माह में जा सकेंगे सड़क मार्ग से मानसरोवर गडकरी ने अपने विभाग की ओर से किए जा रहे विकास कार्यो का जिक्र करते हुए कहा कि हम चार धाम की सड़क बना रहे हैं। इसके बाद बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री पूरे साल जा सकेंगे। कोई आपदा नहीं रोकेगी। मानसरोवर जाने के लिए भी सड़क बनाने का काम छह माह में पूरा हो जाएगा। इसके बाद मानसरोवर जाने के लिए नेपाल या सिक्किम जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पिथौरागढ से जा सकेंगे।

गडकरी ने कहा- दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे का काम तीन साल में पूरा हो जाएगा

उन्होंने बताया कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे का काम तीन साल में पूरा हो जाएगा। उन्होंने राजस्थान में कोटा से मध्य प्रदेश तक के लिए चंबल एक्सप्रेस वे और अजमेर से बठिंडा तक ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे बनाने की घोषणा भी की। सभा को राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया, केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल और गजेन्द्र सिंह शेखावत ने भी संबोधित किया।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस