जयपुर, जेएनएन। Constitution Park. राजस्थान के सभी सरकारी विश्वविद्यालयों में संविधान पार्क बनाए जाएंगे और इनमें संविधान की मूल प्रस्तावना और मूल कर्तव्यों की पट्टिका लगी होंगी। राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र ने इस बारे मे निर्देश दिए हैं। उनका मानना है कि युवा पीढ़ी को भारतीय संविधान के प्रति जागरूक करना आवश्यक है। राज्यपाल ने कहा कि संविधान हमारा मूल ग्रंथ है। उन्होंने कहा कि हमें प्रदेश में ऐसा वातावरण बनाना होगा, जिससे संविधान लोगों के मन-मस्तिष्क में छा जाए। उन्होने संविधान पर विश्वविद्यालयों में भाषण प्रतियोगिता कराने के निर्देश भी दिए हैं।

कलराज मिश्र शुक्रवार को राजभवन में राजस्थान के सभी कुलपतियों की समन्वय समिति की बैठक ले रहे थे। बैठक में विश्वविद्यालयों में किए जाने वाले नए कामों पर विस्तार से चर्चा की गई। मिश्र ने कहा कि राजभवन राज्यपाल के साथ कुलाधिपति का भी भवन है। इसलिए राजभवन में एक विश्वविद्यालय पार्क बनाया जाएगा। इसमें राज्य के प्रत्येक विश्वविद्यालय द्वारा निर्मित स्मार्ट मॉडल का प्रदर्शन होगा। राज्यपाल ने सभी कुलपतियों को मॉडल के लिए विषय तय करने और उस पर कार्य करने की सीमा तीन महीने दस दिवस निश्चित की है। विश्वविद्यालय पार्क विकसित होने के बाद राजभवन को लोगों को देखने के लिए भी खोला जाएगा। राज्यपाल  ने इस बात पर चिंता व्यक्त की है कि राज्य का कोई भी विश्वविद्यालय देश के सर्वश्रेष्ठ 100 विश्वविद्यालयों में शामिल नहीं है। उन्होंने कहा कि इस स्थिति को सुधारने का प्रयास करना होगा।

ये निर्णय किए गए बैठक में

-सरकारी विश्वविद्यालयों को एक सूत्र में जोड़ा जाएगा

-सभी विश्वविद्यालयों का अंतर विश्वविद्यालय क्रीड़ा उत्सव में भाग लेना अनिवार्य होगा

-सभी विश्वविद्यालय एक प्लेटफार्म पर आएं। अपनी समान समस्याओं और लक्ष्य की प्राप्ति के लिए साझा प्रयास करें।

-पौधारोपण अभियान चलेगा विश्वविद्यालयों में।

-रेन वाटर हार्वेस्टिंग व ग्राउंड वाटर रिचार्ज सिस्टम आवश्यक रूप से बनाने होंगे

-नशा मुक्त और सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त होंगे परिसर।

-विश्वविद्यालयों के गोद लिए गए गांवों का दौरा करेंगे कुलाधिपति अगले माह से।

-युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कौशल विकास से जोड़ा जाएगा।

-पाठ्यक्रमों को अपडेट करना होगा

-विश्वविद्यालयों को स्मार्ट बनाने के लिए राजभवन स्तर पर बनेगी समिति।

-परीक्षा प्रणाली में होगा सुधार व केंद्रीय मूल्यांकन पद्धति लागू करनी होगी।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस