जयपुर, जेएनएन। North Western Railway. केंद्रीय बजट में रेलवे के उत्तर पश्चिम रेलवे को वर्ष 2020-21 के लिए 6408.92 करोड़ रुपये का बजट दिया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे में ज्यादातर हिस्सेदारी राजस्थान की है। मिले बजट में सबसे ज्यादा फोकस सुरक्षा पर किया गया है। पांच नए काम स्वीकृत किए गए है और यात्री सुविधाओं पर फोकस किया गया है।

रेलवे की ओर से उत्तर पश्चिम रेलवे के बजट में हालांकि राजस्थान की उम्मीदें बहुत ज्यादा पूरी नहीं हुई, लेकिन फिर भी कुछ नए काम राजस्थान में किए जाने की मंजूरी दी गई है। इसके तहत भटिंडा-भीलड़ी, सिरसा, हिसार, रतनगढ़, डेगाना, लूणी समदड़ी के रास्ते और डेगाना- राईकाबाग तक के लिए 752.20 किमी की अतिरिक्त रेल लाइन स्वीकृत की गई है। इसके साथ ही अजमेर-चित्तौड़गढ़ ( 186 किमी) का दोहरीकरण, सवाई माधोपुर में बाईपास लाइन (6.98 किमी), आरडीफओ संगठन के लिए परीक्षण रेलवे ट्रैक (34 किमी) और फुलेरा स्टेशन पर जयपुर-अजमेर रेलखंड के लिए केंद्रीकृत यातायात नियंत्रण प्रणाली के काम को मंजूरी दी गई है।

यात्री सुविधाओ और सुरक्षा की बात करें तो इसके लिए 160 करोड़ का आवंटन किया गया है और पार्टनरशिप व कार्पोरेट सोशल रेस्पोंसबिलिटी के तहत स्टेशनों के पुनर्विकास और अन्य कार्यों के लिए एक हजार करोड़ के निवेश का प्रावधान किया गया है। इसी तरह ट्रैक नवीनीकरण के लिए 530 करोड़ रुपये, ओवर ब्रिज रोड, अंडर ब्रिज के लिए 506 करोड़, नई लाइन के लिए 153 करोड़, आमान परिवर्तन के लिए 182 करोड़ और दोहरीकरण पर 396.55 करोड़ के बजट दिया गया है। इसी प्रकार ब्रिज कार्य के लिए 29.10 करोड़, सिग्नल कार्य के लिए 55.54 करोड़, रोलिंग स्टॉक के लिए 38 करोड़, यातायात सुविधाओं के लिए 106.83 करोड़, कारखाना कार्यों के लिए 38 करोड़ और कर्मचारी कल्याण के लिए 33.81 करोड़ और प्रशिक्षण कार्य के लिए 4.50 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है।

रेलवे नेटवर्क पर रेल दुर्घटनाओं को रोकने के लिए देश में ही विकसित की गई प्रणाली लागू करने का प्रापवधान भी किया गया है। इससे गाड़ियों की आमने-सामने की टक्कर को रोका जा सकेगा। इसके साथ ही खेलों को बढ़ावा देने के लिए उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना, रेलवे स्टेशनों पर दूरसंचार दिव्यांगजन की सुविधा सूचना प्रणाली और अन्य यात्री सुविधाओं के काम भी होंगे। इसके साथ ही जयपुर के खातीपुरा स्टेशन को सेटेलाइट के रूप में डेवलप करने के लिए 30 करोड़ रुपये मिले हैं।

नई लाइनें भी

दौसा- गंगापुर सिटी (92.67 किलोमीटर) के लिए 100 करोड़

ठियात-हमीरा-सानू (58.5 किलोमीटर ) के लिए 27.99 करोड़

गुढ़ा-ठठाणा मिठड़ी परीक्षण ट्रैक (25 किमी) के लिए 25 करोड़

आठ मार्गों पर होगा दोहरीकरण

मार्ग किलोमीटर बजट आवंटन

फुलेरा-डेगाना 108.75 किमी 103 करोड़

डेगाना-राईकाबाग 145 किमी 107 करोड़

अलवर-बांदीकुई 7.37 किमी 42.25 करोड़

बागड़ग्राम-गुड़िया 47 किमी 55.50 करोड़

अजमेर-बागड़ग्राम 48.46 किमी 45.7 करोड़

सरोत्रा रोड-करजोड़ा 23.12 किमी 20 करोड़

आबूरोड-सरोत्रा रोड 23. 12 किमी 10 करोड़

सरूपगंज-आबूरोड 35 किमी 10 करोड़ रुपये. 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस