जयपुर, जेएनएन। Murder In Jaipur. राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक व्यक्ति की बेटी की हत्या जैसे जघन्य मामले की भी एफआइआर दर्ज नहीं करने वाले थाना प्रभारी को आखिरकार बुधवार को सस्पेंड कर दिया गया। इस लापरवाह थाना प्रभारी की राज्य के उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने भी शिकायत की थी। जयपुर के पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने बुधवार को शहर के ब्रह्मपुरी थानाधिकारी भरत सिंह को निलंबित कर दिया।

जयपुर के पुलिस उपायुक्त प्रथम अशोक गुप्ता ने बताया कि मंत्री मीणा की शिकायत के बाद यह कार्रवाई की गई है। मंत्री मीणा ने मंगलवार को कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में चल रही जनसुवाई में कहा था कि पुलिस मामला दर्ज नहीं कर रही है। उन्होंने जनसुनवाई कर रहे संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल से दखल देने की अपील की थी।

जानें, क्या है मामला

फरियादी सांवल राम का आरोप था कि उसकी बेटी की गत 28 जनवरी को जयपुर में उसके सुसराल में हत्या कर दी गई थी। वहीं, ब्रह्मपुरी थानाधिकारी का कहना था कि मामला सवाई माधोपुर के बामनवास में दर्ज होना चाहिए, जहां उसकी मौत हुई और दाह संस्कार किया गया।

थानाधिकारी ने कहा, संदिग्ध मौत

थानाधिकारी का कहना है कि महिला अपने पति के साथ बह्मपुरी थानाक्षेत्र के खोर गांव में दो माह पहले तक रहती थी, लेकिन अभी वह बामनवास में रह रही थी। उसकी संदिग्ध मौत के बाद उसका दाह संस्कार भी वहीं हुआ था। फरियादी वहां मौजूद था, लेकिन उसने वहां केस दर्ज नहीं कराया।

वहीं, दूसरी ओर राजस्थान में चूरू जिले के रतनगढ़ में इंडियन करेंसी देखने के बहाने दो विदेशी पर्यटकों ने व्यापारी की आंखों में धूल झोंककर 50 हजार रुपये उड़ा लिए। रतनगढ़ थाने में मामला दर्ज किए जाने के बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर इनकी तलाश शुरू की। कई राज्यों में इनकी तलाश करने के बाद कर्नाटक के करवर थाना क्षेत्र से ईरान के रहने वाले मेहराज एवं हादी को गिरफ्तार कर लिया गया।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस