उदयपुर, जागरण संवाददाता। हमारा शहर रहने के लिए कितना बेहतर है। इसके लिए केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय देश भर के स्मार्ट सिटी सहित 114 शहरों में जीवनयापन के आवश्यक बुनियादी व्यवस्थाओं के आंकलन के लिए ‘ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स’ व ‘म्यून्सिपल परफोर्मेंस इंडेक्स 2019 सर्वे का आयोजन किया जा रहा है।

चयनित शहरों में उदयपुर भी शामिल है। इस सर्वे के आधार पर ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स यानी कि जीवन जीने की सुगमता का सूचकांक तैयार किया जाएगा। उदयपुर स्मार्ट सिटी के सीईओ कमर चौधरी, नगर निगम आयुक्त अंकित कुमार सिंह ने बताया कि सर्वे के दौरान लोगों से शहर के आधारभूत ढांचे, यातायात, कानून व्यवस्था, परिवहन, बिजली, पानी, शिक्षा, सुरक्षा, मनोरंजन आदि जैसी बुनियादी सुविधाओं के स्तर के बारे में पूछा जाएगा। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन सर्वे में शहरवासियों के फीडबैक के आधार पर शहरों की रैंकिंग तय की जाएगी।

हमारा शहर रहने के लिए कितना बेहतर है। इसके लिए केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय देश भर के स्मार्ट सिटी सहित 114 शहरों में जीवनयापन के आवश्यक बुनियादी व्यवस्थाओं के आंकलन के लिए ‘ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स’ व ‘म्यून्सिपल परफोर्मेंस इंडेक्स 2019 सर्वे का आयोजन किया जा रहा है। सरकार के पास जितना ज्यादा फीडबैक पहुंचेगा, उसी के आधार पर शहर की रैंकिंग भी तय होगी और भविष्य में उसी के आधार पर शहरके लिए योजनाएं बनाई जाएंगी।

इन बिंदुओं पर होगा सर्वे

सर्वे में जो सवाल पूछे गए हैं, उनमें शहर रहने के लिए कितना सुगम है, शिक्षा की गुणवत्ता, स्वास्थ्य सेवाओं की व्यवस्था, आवासीय सुविधा, हवा की शुद्धता, शहर की साफ सफाई की स्थिति, आसपड़ोस से कूड़ा उठाने की व्यवस्था, पीने के पानी की स्थिति, जलभराव की समस्या, शहर में यात्रा करना कितना सुरक्षित और आसान, शहर रहने के लिए कितना सुरक्षित व महफूज, आपातकालीन सेवाओं की क्षमता, महिलाओं की सुरक्षा, मनोरंजन के साधन, बिजली आपूर्ति, बैंकिंग, बीमा और एटीएम आदि की सुविधाएं शामिल हैं। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Rajasthan: ईरान के दो नागरिकों ने व्यापारी से धोखाधड़ी की, पकड़े गए

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस